भारत और इंग्लैंड के बीच 5वां टेस्ट मैच बर्मिंघम में खेला जा रहा है। इस मुकाबले के लिए जैसे ही टॉस उछला जसप्रीत बुमराह ने एक ऐतिहासिक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। वह कपिल देव के बाद भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी करने वाले पहले तेज गेंदबाज बन गए हैं। महामारी कोविड-19 से जूझ रहे नियमित कप्तान रोहित शर्मा की जगह जसप्रीत बुमराह को यह जिम्मेदारी दी गई है। मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग का फैसला किया है।

यह भी पढ़े : पेड़ के नीचे सोते हुए टाइगर को कुत्ते ने ललकारा, सिर्फ 8 सेकंड में कर दिया काम तमाम


कपिल देव ने 1987 में भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी आखिरी बार की थी। उसके बाद से कप्तानी के मामले में बल्लेबाजों का बोल बाला रहा, जबकि अनिल कुंबले के रूप में लंबे समय तक एक स्पिन कप्तान भी भारत को मिला। देखा जाए तो मौजूदा समय में तेज गेंदबाज पैट कमिंस ऑस्ट्रेलिया और बेन स्टोक्स इंग्लैंड की कप्तानी कर रहे हैं।

यह भी पढ़े : दक्षिण अफ्रीका में मिला दुर्लभ प्रजाति का दोमुंहा सांप, पहली नजर में देखकर भयभीत हुए पकड़ने वाले  


कपिल देव ने भारत के लिए 1983 से 1987 के बीच 34 टेस्ट मैचों में कप्तानी की थी। टीम ने उनकी कप्तानी में 4 टेस्ट में जीत हासिल की थी जबकि 7 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा था। इस दौरान 22 मैच ड्रॉ रहे थे जबकि एक मुकाबला टाई पर छूटा था। वहीं अपनी कप्तानी में कपिल देव ने भारत के लिए टेस्ट में 31.72 का औसत से 1364 रन बनाए हैं जबकि गेंदबाजी में उन्होंने 111 विकेट लिए।

यह भी पढ़े : Monthly Horoscope July 2022 : शनि मकर राशि में जाएंगे और गुरु वक्री होंगे, इस महीने इन राशियों पर बरसेगी देवगुरु बृहस्पति की कृपा


जसप्रीत बुमराह ने भारतीय टीम के लिए साल 2018 में अपना टेस्ट डेब्यू किया था। डेब्यू के बाद से वह टीम इंडिया के लिए 29 टेस्ट खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 21.73 की औसत से 123 विकेट हासिल किए हैं। टेस्ट के अलावा वह भारत के लिए 70 वनडे और 57 टी20 मैच भी खेले हैं। वनडे में उन्होंने भारत के लिए 113 विकेट लिए हैं जबकि टी20 इंटरनेशनल में उन्होंने 67 विकेट झटके हैं।