भारत-ए ने कप्तान संजू सैमसन (54), तिलक वर्मा (50) और शार्दुल ठाकुर (51) के अद्र्धशतकों के बाद राज बावा (11/4) की शानदार गेंदबाजी की बदौलत न्यूजीलैंड-ए को तीसरे अनौपचारिक एकदिवसीय मैच में 106 रन से हराकर तीन मैचों की शृंखला क्लीन स्वीप कर ली। भारत-ए ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 49.3 ओवर में 285 रन बनाये, जिसके जवाब में न्यूजीलैंड-ए 178 रन पर ऑलआउट हो गयी। 

ये भी पढ़ेंः आज तक भारत में T20 सीरीज नहीं हारी है साउथ अफ्रीका, क्या रोहित शर्मा की टीम कर पाएगी कारनामा


कीवी टीम के लिये डेन क्लीवर (83) ने जुझारू पारी खेली लेकिन उन्हें किसी का साथ नहीं मिला। कप्तान संजू और तिलक ने भारतीय टीम के 65 रन पर दो विकेट गिरने के बाद तीसरे विकेट के लिये 99 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। संजू ने 68 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों की बदौलत 54 रन बनाये जबकि तिलक ने 62 गेंदों पर एक चौका और तीन छक्के लगाकर 50 रन की अद्र्धशतकीय पारी खेली। इसके बाद आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने आये शार्दुल ने 33 गेंदों पर चार चौकों और तीन छक्कों की बदौलत ताबड़तोड़ 51 रन बनाये, जिसकी मदद से भारत-ए ने ऑलआउट होने से पहले 284 रन का स्कोर खड़ा कर दिया। 

ये भी पढ़ेंः टीम इंडिया की इस स्टार खिलाड़ी के कमरे में चोरी, लंदन के होटल से कैश-ज्वेलरी गायब


इसके अलावा ऋषि धवन ने 34(46) रन की पारी खेली। न्यूजीलैंड-ए ने दूसरी पारी में अच्छी शुरुआत के बाद नियमित अंतराल पर विकेट गंवाये। क्लीवर ने चैड बोवेस (20) के साथ पहले विकेट के लिये 9.5 ओवर में 52 रन जोड़े, लेकिन बोवेस का विकेट गिरने के बाद रचिन रविंद्र (02), मार्क चैपमेन (11), रॉबर्ड ओडोनेल (06) और टॉम ब्रूस (10) भी शीघ्र ही पवेलियन लौट गये। क्लीवर भी माइकल रिपन के साथ छठे विकेट के लिये 31 रन की साझेदारी करके पवेलियन लौट गये। क्लीवर ने 89 गेंदों पर नौ चौकों और दो छक्कों के साथ 83 रन बनाये जबकि रिपन ने 24 गेंदों पर तीन चौके लगाते हुए 29 रन की पारी खेली। न्यूजीलैंड-ए ने अपने अंतिम छह विकेट 58 रन के बदले गंवाये और 38.3 ओवर में 178 रन पर ऑलआउट हो गयी। भारत-ए के लिये बावा ने सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए 5.3 ओवर में सिर्फ 11 रन देकर चार विकेट लिये। राहुल चाहर और कुलदीप यादव को दो-दो विकेट हासिल हुए जबकि धवन और राहुल त्रिपाठी ने एक-एक विकेट लिया।