भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में पुरुष हॉकी विश्वकप के उद्घाटन समारोह में मंगलवार को ऑस्कर विजेता संगीतकार ए. आर. रहमान, अभिनेता शाहरुख खान और अभिनेत्री माधुरी दीक्षित ने अपनी प्रस्तुति से दर्शकों का दिल जीत लिया।


संगीतकार रहमान ने अपने ग्रुप के साथ झिलमिल लाइट के बीच 'जय हिंद हिंद जय इंडिया' गीत गाकर उद्घाटन समारोह की शुरुआत की। इसके बाद मेजबान ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने मंच पर आकर हॉकी विश्वकप के उद्घाटन का आधिकारिक ऐलान किया।


विश्व हॉकी महासंघ (एफआईएच) के अध्यक्ष डॉ. नरिंदर बत्रा ने समारोह के इतने बड़े स्तर पर आयोजन के लिए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और पूरे प्रदेश को धन्यवाद दिया।

सभी टीमों के कप्तान बारी-बारी से मंच पर आए। इन सभी के साथ एक-एक आदिवासी बच्चा भी था जिसके हाथ में हॉकी स्टिक थी।


कप्तानों के बाद शाहरुख खान मंच पर पधारे। किंग खान ने सभी 16 टीमों के कप्तानों की मौजूदगी में अपनी हिट फिल्म 'चक दे इंडिया' का फेमस डायलॉग बोला, 'ये 70 मिनट आपकी जिंदगी के सबसे खास पल हैं और इन्हें आपसे कोई नहीं छीन सकता है।' उनके इस डायलॉग के साथ ही समारोह में मौजूद दर्शक 'चक दे' का नारा लगाने लगे।


शाहरुख के संबोधन के बाद बॉलीवुड अभिनेत्री माधुरी दीक्षित ने अपनी प्रस्तुति दी। उन्होंने लगभग 1000 डांसर के साथ 'धरती का गीत' नृत्य नाटिका पेश की। माधुरी और डांसरों के साथ ओडिशा के आदिवासियों की संस्कृति को भी दर्शाया गया जिसमें करीब 800 स्कूली बच्चे नजर आए। आखिर में रहमान ने विश्वकप थीम सॉन्ग 'जय-हिंद हिंद जय इंडिया' के गाने के साथ समारोह का समापन किया।