तीन बार की हॉकी विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने अपने चौथे खिताब की ओर कदम बढ़ाते हुए मंगलवार को एफआईएच पुरुष हॉकी विश्व कप 2023 के रोमांचक क्वार्टरफाइनल मुकाबले में स्पेन को 4-3 से मात दी।कलिंगा स्टेडियम पर खेले गये मुकाबले में जेरेमी हेवर्ड (32वां, 36वां) ने विजेता टीम के लिये दो गोल किये, जबकि फ्लिन ओगिल्वी (29वां) और एरन जलेउस्की (31वां) ने एक-एक गोल किया। स्पेन के गोल ज़ेवियर गिस्पर्ट (19वां), मार्क रेकैसन्स (23वां) और मार्क मिरालेस (40वां मिनट) ने किये।

ये भी पढ़ेंः Men hockey world cup 2023: क्रॉसओवर मुकाबले में फ्रांस को रौंदकर क्वार्टरफाइनल में जर्मनी


ऑस्ट्रेलिया ने इस जीत के साथ सेमीफाइनल में जगह बना ली है जहां उसका सामना इंग्लैंड या जर्मनी में से किसी एक से होगा। ऑस्ट्रेलिया ने अपनी प्रतिष्ठा के अनुसार मुकाबले की शुरुआत करते हुए पहले क्वार्टर में तीन पेनल्टी कॉर्नर अर्जित किये, हालांकि स्पेन ने भी दमदार रक्षण का प्रदर्शन दिखाया और उसे खाता नहीं खोलने दिया। ज़ेवियर ने 19वें मिनट में फील्ड गोल करके स्पेन को शुरुआती बढ़त दिलाई, जबकि चार मिनट बाद रेकैसन्स ने गोल जमाकर इस बढ़त को दोगुनी कर दिया। दो गोल से पिछड़ने के बाद विश्व कप की सबसे सफल टीम ऑस्ट्रेलिया ने दमखम दिखाया और ओगिल्वी ने हाफ टाइम से ठीक पहले गोल दागकर कंगारुओं का खाता खोला।

ये भी पढ़ेंः Ind Vs NZ 3rd ODI: रोहित शर्मा और शुभमन गिल के बाद पंड्या ने दिखाए तेवर, भारत ने बनाए 385 रन


ऑस्ट्रेलिया ने ओगिल्वी के गोल से मिली लय को बरकरार रखते हुए तीसरे क्वार्टर में प्रवेश किया। ज़लेउस्की और हेवर्ड ने छह मिनट के अंदर तीन गोल जमाकर ऑस्ट्रेलिया को पलक झपकते ही बढ़त की स्थिति में पहुंचा दिया। मैक्स कालडास की टीम ने इसके बाद प्रत्याक्रमण शुरू किया और तीसरा क्वार्टर खत्म होने से पहले चार पेनल्टी कॉर्नर अर्जित किये। मिरालेस ने 40वें मिनट में मिले पेनल्टी कॉर्नर पर स्पेन का तीसरा गोल दाग दिया। ऑस्ट्रेलिया के शार्प लैचलेन को 55वें मिनट में ग्रीन कार्ड देखकर बाहर जाना पड़ा और स्पेन ने 30 सेकंड के अंदर एक पेनल्टी स्ट्रोक हासिल कर लिया। मिरालेस के पास गेंद को नेट में पहुंचाने का एक और मौका था लेकिन इस बार कंगारू गोलकीपर एंड्र्यू चार्टर उनके सामने दीवार बनकर खड़े हो गये। लैचलेन के पिच पर लौटने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने स्पेन को गोल तक पहुंचने का कोई मौका नहीं दिया और मुकाबला 4-3 से जीत लिया।