टी20 वर्ल्ड कप 2021 में टीम इंडिया प्लेऑफ तक भी नहीं पहुंच पाई थी। टी20 वर्ल्ड कप को लेकर हार्दिक ने हाल में कहा था कि सिलेक्टर्स ने उन्हें सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर ही चुना था। इसको लेकर विराट कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने उनकी क्लास लगाई है। राजकुमार ने कहा कि यह पूरी तरह से बचकाना बयान है। 

टीम इंडिया को ग्रुप स्टेज में ही पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले लगातार दो मैच में हार का सामना करना पड़ा था। बतौर टी20 कप्तान यह विराट कोहली का आखिरी टूर्नामेंट था, इस दौरान हार्दिक पांड्या के सिलेक्शन को लेकर कई सवाल खड़े किए गए थे। टूर्नामेंट के दौरान हार्दिक ना के बराबर गेंदबाजी करते दिखे। कई क्रिकेट पंडितों ने इसको लेकर सवाल किया कि अगर हार्दिक गेंदबाजी के लिए फिट ही नहीं थे, तो उन्हें ऑलराउंडर के तौर पर टीम में जगह कैसे मिली।

राजकुमार ने एक शो में कहा, 'किसी भी टीम के सिलेक्शन में कोच और कप्तान की कुछ डिमांड होती है, हालांकि आखिरी फैसला सिलेक्टर्स के हाथ में ही होता है। अगर हार्दिक पांड्या का सपोर्ट किया गया, तो उनको ऐसा बचकाना बयान नहीं देना चाहिए। आपको कोच को शुक्रिया कहना चाहिए कि उन्होंने आपको टीम में चुना। हार्दिक चीफ सिलेक्टर को लेकर जो बातें कह रहे हैं, उस पर तो चीफ सिलेक्टर को सफाई देनी चाहिए।

हाल में हार्दिक ने कहा कि टी20 वर्ल्ड कप से पहले ही सिलेक्टर्स को पता था कि वह सिर्फ बल्लेबाजी के लिए ही फिट हैं और गेंदबाजी के लिए फिट होने में उन्हें समय लगेगा। इसके बावजूद उन्हें उन मैचों में गेंदबाजी करनी पड़ी, जहां उन्हें गेंदबाजी नहीं करनी चाहिए थी। हार्दिक इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में नई फ्रेंचाइजी टीम अहमदाबाद की अगुवाई करते नजर आएंगे।