श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज में कप्तान रोहित शर्मा बल्ले से कोई खास कमाल नहीं दिखा पाए. उन्होंने पहले मैच में 44 रन बनाए. बाकी दोनों मैच में वे दहाई के अंक तक भी नहीं पहुंच पाए. पूर्व भारतीय क्रिकेटर सबा करीम ने रोहित शर्मा की बल्लेबाजी पर बड़ा बयान दिया है.

टीम इंडिया ने रोहित शर्मा के नेतृत्व में घर में श्रीलंका के खिलाफ 3-0 से टी-20 आई सीरीज में करारी जीत दर्ज की. धर्मशाला में तीसरी टी-20 आई जीत के साथ, भारत 12 जीत के साथ प्रारूप में लगातार सबसे अधिक जीत की सूची में अफगानिस्तान और रोमानिया की सूची में शामिल हो गया. घर में इस टीम का दबदबा ऐसा रहा है कि नयी दिखने वाली टीम भी न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज और अब श्रीलंका के खिलाफ काफी सहज दिख रही थी.

यह भी पढ़े : Russia-Ukraine war : रूस-यूक्रेन युद्ध में नष्ट हुआ दुनिया का सबसे बड़ा विमान, जानिए AN225 के बारे में 10 बातें

कप्तान रोहित शर्मा अपनी गेंदबाजी में बदलाव और फील्ड प्लेसमेंट के मामले में हाजिर थे, लेकिन बल्ले के साथ उनकी निरंतरता की कमी थी, जिसके लिए उन्हें जाना जाता है. रोहित ने तीन मैचों में क्रमश: 44, 1 और 5 का स्कोर दर्ज किया. पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज और चयनकर्ता सबा करीम ने भारत के कप्तान रोहित शर्मा की खराब बल्लेबाजी करने पर चिंता व्यक्त की है.

सबा करीम ने कहा कि रोहित शर्मा अपनी बल्लेबाजी के कारण प्लेइंग इलेवन में हैं. कप्तानी एक अतिरिक्त जिम्मेदारी है. उन्हें बल्लेबाजी के संबंध में ध्यान नहीं खोना चाहिए. कई बार हमने देखा है कि कप्तान अपने प्राथमिक कौशल में अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम नहीं हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए.

यह भी पढ़े : रोहित शर्मा ने खरीदी Lamborghini Urus, 3 करोड़ से भी ज्यादा है कीमत , जानिए खासियत

उन्होंने आगे कहा कि एक कप्तान के रूप में रोहित के लिए यह सिर्फ एक शुरुआती चरण था और इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप 2022 को ध्यान में रखते हुए टीम का नेतृत्व करने और बल्लेबाजी करने के बीच संतुलन जरूरी है. उन्होंने कहा कि रोहित शर्मा के लिए यह सिर्फ शुरुआती चरण है उन्हें धीरे-धीरे एहसास होगा कि टीम के लिए उनके रन कितने महत्वपूर्ण हैं.

सबा करीम ने कहा कि उनका प्रदर्शन ऑस्ट्रेलिया में (टी 20 विश्व कप के दौरान) महत्वपूर्ण होगा, जहां मैदान बड़े हैं और विपक्ष के पास शीर्ष- गुणवत्ता वाले गेंदबाज हैं. रोहित शर्मा को इस क्षेत्र पर काम करने की जरूरत है. मोहाली में 4 मार्च से शुरू हो रहे दो टेस्ट मैचों के पहले मैच में रोहित पहली बार श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम की अगुआई करेंगे.