दोहा. स्पेन ने कतर में फुटबॉल विश्व कप के चौथे दिन बुधवार को कोस्टारिका के खिलाफ ऐतिहासिक जीत हासिल की। उसने ग्रुप-ई में अपने पहले मैच में कोस्टारिका को 7-0 से हरा दिया। स्पेन की टीम ग्रुप-ई में अपना दूसरा मुकाबला 28 नवंबर को जर्मनी के खिलाफ खेलेगी। वहीं, कोस्टारिका का सामना 27 नवंबर को जापान से होगा।

यह भी पढ़े : Marigold Flower Importance: घर से मुख्य द्वार पर गेंदा फूल की माला लगाने से मां लक्ष्मी का वास होता है , जानिए महत्व 


लुइस एनरिके की टीम ने ग्रुप ई के दूसरे मैच में कोस्टा रिका को दोनों हाफ में दना-दन गोल बरसाते हुए 7-0 से पस्त कर दिया और अपने ग्रुप की बाकी टीमों को कड़ी चेतावनी जारी कर दी. स्पेन की इस जीत ने चार बार की चैंपियन जर्मनी की परेशानी बढ़ा दी, जिसे अपने पहले मैच में जापान से उलटफेर का शिकार होना पड़ा.

अल थुमामा स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले से ठीक पहले ही जर्मनी को जापान से हार का सामना करना पड़ा. उस नतीजे के बाद ग्रुप ई के इस मुकाबले पर नजरें थीं. स्पेन की टीम पहले से ही कोस्टा रिका की तुलना में ज्यादा मजबूत थी और उसकी हार भी एक उलटफेर की तरह ही होती, लेकिन युवा खिलाड़ियों से भरी स्पेनिश टीम ने अटैक से लेकर डिफेंस तक कोस्टा रिका को कोई मौका नहीं दिया और विश्व कप इतिहास में अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की.

यह भी पढ़े : Loban and Guggul Dhoop Benefits : प्रतिदिन घर में करें लोबान और गुग्गुल की धूप, हर परेशानी हो जाएगी दूर


स्पेन की ओर से दोनों हाफ में कोस्टा रिका को एक समान रूप से धोया गया. पहले हाफ में ही टीम ने 3-0 की बढ़त हासिल कर ली थी. टीम को अपना खाता खोलने में ज्यादा वक्त नहीं लगा और डैनी ओल्मो ने मैच के 11वें मिनट में बाईं छोर से बने मूव पर गेंद गावी की ओर बढ़ाई जिन्होंने इसे वापस ओल्मो के पास पहुंचा दिया और ओल्मो ने इसे गोल में दाग दिया. यह विश्व कप में स्पेन का 100वां गोल था. स्पेन ने 10 मिनट बाद अपनी बढ़त को दोगुना कर दिया जब सर्जियो बूसकेट्स ने बाएं छोर पर गेंद जोर्डी अल्बा की ओर बढ़ाई. अल्बा ने गेंद को मार्को असेंसियो के पास भेजा जिन्होंने गोल करने में कोई गलती नहीं की. स्पेन को इसके बाद कोस्टा रिका के डिफेंडर के फाउल पर पेनल्टी मिली और 31वें मिनट में फेरान टॉरेस ने इसे गोल में बदलकर टीम को 3-0 से आगे कर दिया.

यह भी पढ़े :जामा मस्जिद का तालिबानी फरमान : लड़कियों की एंट्री पर लगाया बैन, अब नहीं मिलेगा अकेले प्रवेश


दूसरे हाफ में भी वही हाल रहा और स्पेन के हमले जारी रहे और टॉरेस ने अपना दूसरा गोल किया. मैच के 54वें मिनट में स्पेन ने दाईं छोर से मूव बनाया. गावी ने गेंद टोरेस की ओर बढ़ाई जिन्होंने अकेले दम पर कोस्टा रिका के तीन खिलाड़ियों को छकाते हुए गोल करके अपनी टीम को 4-0 से आगे कर दिया. इसके बाद युवा मिडफील्डर गावी ने 74 मिनट में स्पेन की बढ़त को 5-0 कर दिया जब उन्होंने अल्वारो मोराटा से मिली गेंद पर दाएं पैर से दमदार शॉट मारा और गेंद पोस्ट से टकराकर गोल के अंदर चली गई. इसके साथ ही गावी विश्व कप के इतिहास में गोल करने वाले स्पेन के सबसे युवा खिलाड़ी बन गए. सोलेर ने 90वें मिनट जबकि मोराटा ने इंजरी टाइम के दूसरे मिनट में गोल दागकर स्पेन को 7-0 से आगे कर दिया जो अंतिम स्कोर साबित हुआ.