दोहा। फुटबॉल की दुनिया की सबसे बड़ी प्रतियोगिता 'फीफा पुरुष विश्व कप 2022' रविवार को मेजबान कतर और इक्वाडोर के बीच मुकाबले के साथ शुरू होने जा रही है। फीफा विश्व कप की शुरुआत 1930 में उरुग्वे में हुई थी। अब 92 साल बाद यह टूर्नामेंट एक नये आयोजन स्थल पर एक नये चैंपियन की ताजपोशी के लिए तैयार है। फुटबॉल विश्व कप का आयोजन कतर में पहली बार हो रहा है। इससे पहले विश्व कप 2018 का आयोजन रूस में हुआ था जहां फ्रांस फाइनल में क्रोएशिया को हराकर विजेता के रूप में उभरा था। साल 2022 के टूर्नामेंट में 32 टीमों को आठ समूहों में बांटा गया है। 

प्रधानमंत्री मोदी आज ईटानगर में अरुणाचल के पहले ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे का करेंगे उद्घाटन

विजेता फ्रांस को ग्रुप-डी में ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क और ट्यूनीशिया के साथ रखा गया है, जबकि उपविजेता क्रोएशिया बेल्जियम, कनाडा और मोरोक्को के साथ ग्रुप-एफ में है। मेजबान कतर और इक्वाडोर ग्रुप-ए में नीदरलैंड और सेनेगल के साथ हैं। संभवत: अपना आखिरी विश्व कप खेल रहे लियोनेल मेसी की अर्जेंटीना, सऊदी अरब, मेक्सिको और पोलैंड ग्रुप-सी में हैं। यूरो कप 2020 की उपविजेता इंग्लैंड ग्रुप-बी में ईरान, अमेरिका और वेल्स के साथ शामिल है, जबकि टूर्नामेंट की विजेता इटली विश्व कप में जगह नहीं बना सकी। चार बार की विश्व कप विजेता जर्मनी को ग्रुप-ई में स्पेन, कोस्टा रिका और जापान के साथ रखा गया है। 

जर्मनी 2014 में चैंपियन बनने के बावजूद 2018 के आयोजन में नॉकआउट में जगह नहीं बना सकी थी, और इस बार टीम पिछले आयोजन की गलतियों को सुधारना चाहेगी। पांच बार की विश्व विजेता ब्राजील ग्रुप-जी में सर्बिया, स्विट्जरलैंड और कैमरून का सामना करेगी, जबकि ग्रुप-एच में क्रिस्टियानो रोनाल्डो की पुर्तगाल, घाना, उरुग्वे और कोरिया रिपब्लिक ने स्थान पाया है। अपने देश के लिए पहला विश्व कप जीतने का सपना देख रहे रोनाल्डो अपने समूह में उरुग्वे के सामने सचेत रहना चाहेंगे, जो पिछले टूर्नामेंट से उनकी टीम को बाहर करने के लिए जिम्मेदार थी। 

12 दिन से गोल-गोल घूम रही भेड़ें, सामने आई हैरान करने वाली घटना, देखें वीडियो

पहली बार विश्व कप की मेजबानी कर रहे कतर ने भी आयोजन के लिए खूब तैयारियां की हैं। विश्व कप के 64 मैच राजधानी दोहा में स्थित आठ स्टेडियमों में खेले जायेंगे, जिनमें से सात का निर्माण पिछले तीन सालों में करीब 6.5 अरब डॉलर की लागत से किया गया है। इनमें से छह स्टेडियमों की क्षमता 40,000 दर्शकों की है, जबकि दोहा के सबसे बड़े स्टेडियम 'लुसैल' में 80,000 दर्शक बैठकर फुटबॉल का आनंद ले सकते हैं। विश्व कप के फाइनल और एक सेमीफाइनल सहित कुल 10 मैचों का आयोजन लुसैल में किया जाएगा। विश्व कप के मेजबान और मेहमानों ने कई विवादों और आपत्तियों के बीच फुटबॉल के महाकुंभ के लिए कमर कस ली है। रविवार को शुरू होने वाले इस सफर का समापन 18 दिसंबर को होगा, जब हमें फुटबॉल का नया विश्व चैंपियन मिल जायेगा।