भारतीय खेल प्राधिकरण ने एक महिला साइक्लिस्ट द्वारा मुख्य कोच आर के शर्मा पर 'अनुचित व्यवहार' का आरोप लगाने के बाद ट्रेनिंग और इवेंट में भाग लेने के लिए स्लोवेनिया गई पूरी भारतीय टीम को वापस बुलाने का फैसला किया है। भारतीय टीम में पांच पुरुष और एक महिला साइकिल चालक शामिल हैं और पूर्व कार्यक्रम के अनुसार उन्हें 14 जून को स्लोवेनिया से वापस लौटना था। साई ने आरोप लगाने वाली साइकिल चालक को पहले ही वापस बुला लिया है और मामले की जांच के लिए जांच समिति गठित की है।

यह भी पढ़े : एक बार फिर बढ़ सकती हैं तेल की कीमतें, रूस ने भारत को सस्ता तेल देने से मना किया 


SAI के अलावा भारतीय साइकिल महासंघ (CFI) ने महिला साइकिल चालक द्वारा मुख्य कोच के खिलाफ लगाए गए अनुचित व्यवहार के आरोपों की जांच के लिए समिति गठित करने का फैसला किया है। सीएफआई के महासचिव एमसी सिंह ने कहा है कि हमने साइक्लिस्ट से मुलाकात करने के बाद उन्हें न्याय दिलाने का वादा किया है।

यह भी पढ़े : घर में चल रहा था श्राद्ध समारोह तभी जिंदा  वापस लौटा मृत आदमी, जानिए पूरा मामला 


भारतीय साइकिल महासंघ (CFI) के अध्यक्ष ओंकार सिंह ने बताया कि साई ने वर्तमान दौरे को बीच में ही समाप्त करने का फैसला किया है। सिंह ने कहा, 'साई के अधिकारी ने आज सुबह सीएफआई को बताया कि कोच आरके शर्मा सहित पूरे दल को स्लोवेनिया से तुरंत वापस बुलाया जाएगा।' यह भी पता चला है कि साई ने कोच शर्मा को जल्द से जल्द वापस लौटने के लिये अलग से संदेश भी भेजा था। साइकिल चालक एशियाई ट्रैक साइक्लिंग चैंपियनशिप से पहले तैयारी कैम्प का हिस्सा थी। यह इवेंट 18 से 22 जून तक दिल्ली में होने वाला है।

यह भी पढ़े : Ganga Dussehra 2022 : आज बन रहे हैं 4 शुभ संयोग, गंगा स्नान करने से 10 पापों से से मिलेगी मुक्ति , शुभ मुर्हुत


SAI ने CFI की सिफारिश के बाद ही उस कोच की नियुक्ति की थी, जिसके खिलाफ महिला साइक्लिस्ट ने ये आरोप लगाए हैं। रिपोटर्स में कहा गया है कि महिला साइक्लिस्ट ने एक ईमेल के जरिए साई से कोच के खिलाफ शिकायत की थी। शिकायत मिलने के तुरंत बाद ही साई ने एक्शन में आते हुए दल को स्लोवेनिया से वापस बुला लिया है और मामले की जांच के लिए समिति गठित कर दी है।