भारतीय हाॅकी टीम ने एशियन गेम्स में बुधवार को हुए पूलमैच में हांग कांग को 26-0 से हराकर इतिहास रच दिया है। 86 साल  बाद एेसा मौका आया है जब भारतीय हाॅकी टीम ने इतनी बड़ी जीत हासिल की है। इससे पहले भारत (आजादी से पहले) ने 1932 लॉस एंजेलिस ओलंपिक गेम्स में अमेरिका को 24-1 से मात दी थी।यह भारत की एशियाड में अब तक की सबसे बड़ी जीत है। मैच में भारत के 9 से ज्यादा खिलाड़ियों ने गोल किए।  बता दें कि भारत की इस जीत में मणिपुर के रहने वाले चिंगलिंगसाना सिंह ने अहम भूमिका निभार्इ है। उन्होंने एक स्टार डिफेंडर आकशदीप, के साथ गोल दाग कर भारत को शानदार जीत हासिल करने में अहम भूमिका निभार्इ है।


चिंगलिंगसाना सिंह के बारे में

चिंगलिंगसाना सिंह का जन्म दो दिसंबर 1991 को मणिपुर में हुआ था। चिंगलिंगसाना ने 2012 से भारतीय टीम के लिए खेलना शुरू किया था आैर ये हाॅकी इंडिया लीग में दबंग मुंबर्इ के लिए भी खेल चुके हैं। बता दें कि सिंह काे 2011 में चीन के आर्डोस सिटी में होने वाले चैम्पियंस ट्राफी के लिए चुना गया था। लेकिन उस समय वे ये चैम्पियंस ट्राफी खेल नहीं पाएं थे क्योंकि उनका पासपोर्ट तैयार नही था। हालांकि 2011 में उन्होंने साउथ अफ्रीका में हो रहे चैम्पियंस चैलेंज-I में अपना डेब्यू किया।  2014 में राष्ट्रमंडल खेल में दूसरे स्थान पर काबिज होने वाली भारतीय टीम को भी हिस्सा थे। इसके साथ ही 2014 वर्ड कप में उन्होंने नौवां स्थान हासिल किया।  2014 हुए एशियन गेम्स में जब टीम ने गोल्ड मेडल जीता तो उस समय भी सिंह  टीम का हिस्सा थे। 2017 में भी एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने वाली भारतीय हाॅकी टीम का सिंह हिस्सा थे।


इस बार की जीत स्टार डिफेंडर के साथ दागे गोल
इस बार हुए एशियन टीम में  स्टार डिफेंडर हरमनप्रीत ने तीन और आकाशदीप, ललित एवं रूपिंदर ने दो-दो गोल दागे। इनके अलावा, दलप्रीत सिंह, चिंगलिंगसाना सिंह और सिमरनजीत सिंह ने एक-एक गोल किया। इस जीत के बाद भारत के छह अंक हो गए हैं और वह ग्रुप ए में भी शीर्ष पर काबिज है।


दमदार प्रदर्शन
बता दें कि दुनिया की पांचवें नंबर की टीम भारत और 45वें नंबर की टीम हांग कांग के बीच इस मुकाबले के पहले से ही एक तरफा होने की उम्मीद की जा रही थी। भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 18वें एशियाई खेलों में अपने दमदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए बुधवार को अपने दूसरे ग्रुप मुकाबले में हांग कांग को 26-0 से करारी शिकस्त दी। भारत ने अपने पहले ग्रुप मुकाबले में मेजबान इंडोनेशिया को 17-0 के भारी अंतर से मात दी थी।हांग कांग के खिलाफ भारत ने तेज शुरुआत की और फॉरवर्ड खिलाड़ी आकाशदीप ने दो मिनट अंदर ही पहला गोल करते हुए अपनी टीम को बढ़त दिला दी। एक मिनट बाद मनप्रीत सिंह ने भारत के लिए दूसरा गोल किया।

कुल 12 गोल दागे
शानदार शुरुआत के बाद भारत ने तेज हॉकी खेलना जारी रखा और पहले क्वार्टर में चार गोल और किए। रूपिंदर पाल सिंह ने पेनल्टी कॉर्नर के माध्यम से दो और एसवी सुनील एवं विवेक सागर ने एक-एक गोल दागा। दूसरे क्वार्टर में भारत ने आक्रामक खेल दिखाते हुए कुल आठ गोल दागे। मंदीप सिंह और ललित उपाध्याय ने दो-दो, जबकि मनप्रीत, हरमनप्रीत सिंह, अमित रोहिदास और वरुण कुमार ने एक-एक गोल किया। भारतीय खिलाड़ियों ने दूसरे हाफ में भी गोल करना जारी रखा और कुल 12 गोल दागे।