पांच मैचों की टी-20 सीरीज के आखिरी मुकाबले में बांग्लादेश की टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 60 रनों से हराया। 123 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम महज 62 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। 

यह टी-20 क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया का अबतक का सबसे कम स्कोर भी है। इस जीत के साथ ही बांग्लादेश की टीम ने टी-20 सीरीज को 4-1 से अपने नाम किया। टीम की ओर से गेंदबाजी में शाकिब अल हसन ने कहर बरपाते हुए अपने 3.4 ओवर के स्पैल में महज 9 रन देकर 4 विकेट झटके। 

ऑस्ट्रेलिया का न्यूनतम स्कोर इससे पहले 79 रन था जो उसने जून 2005 में साउथम्पटन में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया था। इस मैच में कंगारू टीम 14.3 ओवर में आउट हो गई थी। ऑस्ट्रेलिया की टीम की तरफ से कप्तान मैथ्यू वेड ने सबसे अधिक 22 रन बनाए। 123 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी कंगारू टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और डैनियन क्रिस्टियन महज 3 रन बनाकर पवेलियन लौटे। 

इसके बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई टी-20 सीरीज में जबरदस्त बल्लेबाजी करने वाले मिचेल मार्श भी कुछ खास नहीं कर सके और सिर्फ 4 रन बनाकर नासुम अहमद का शिकार बने। एलेक्स कैरी (1) और मोइजेस हेनरिक्स (3) ने भी बांग्लादेश के गेंदबाजों के आगे पूरी तरह से घुटने टेक दिए। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए और 13.4 ओवर में महज 62 रन बनाकर पूरी टीम ऑलआउट हो गई। शाकिब ने अपने 3.4 ओवर में 9 रन देकर 4 कंगारू बल्लेबाजों को चलता किया। वहीं, मोहम्मद सैफुद्दीन ने तीन विकेट झटके।  

बल्लेबाजी के लिए मुश्किल हालात के बीच बांग्लादेश की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए नाथन एलिस (16 रन पर दो विकेट) और डैन क्रिस्टियन (17 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने आठ विकेट पर 122 रन का स्कोर ही खड़ा कर सकी। मेजबान टीम की ओर से सलामी बल्लेबाज मोहम्मद नईम (23 रन) ही 20 रन के आंकड़े को पार करने में सफल रहे। शाकिब इसके साथ ही टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 विकेट चटकाने वाले बांग्लादेश के पहले और दुनिया के दूसरे गेंदबाज बने। शाकिब के नाम अब 102 विकेट दर्ज हैं। उनसे अधिक विकेट सिर्फ श्रीलंका के दिग्गज तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा (107 विकेट) ने चटकाए हैं।