क्रिकेट के रोमांच में सबसे अधिक लोगों की नजरें भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले पर रहती है. एक बार फिर भारत और पाकिस्तान के बीच श्रीलंका में होने वाले एशिया कप टी-20 मुकाबले का रोमांच देखने को मिलेगा. एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) ने शनिवार को यहां अपनी आम सालाना बैठक के बाद घोषणा की कि श्रीलंका 27 अगस्त से 11 सितंबर तक एशिया कप टी-20 टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा.

यह भी पढ़े : Horoscope March 21 : इन राशि वालों के लिए आज का दिन विशेष, सूर्यदेव को जल दें और मां काली की अराधना करें


महाद्वीप की सभी पांच टेस्ट टीमें (भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और मेजबान श्रीलंका) टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगी जिसमें एक और एशियाई टीम होगी जिसका फैसला 20 अगस्त से होने वाले वाले क्वालीफायर टूर्नामेंट के बाद होगा. एसीसी ने अपनी एजीएम के बाद ट्वीट किया कि एशिया कप 2022 (टी20 प्रारूप) का आयोजन इस साल श्रीलंका में 27 अगस्त से 11 सितंबर तक किया जायेगा. इसके लिये क्वालीफायर 20 अगस्त 2022 के बाद खेले जायेंगे. टूर्नामेंट का पिछला चरण 2018 में खेला गया था जिसमें भारत ने जीत हासिल की थी. कोविड-19 महामारी के कारण 2020 चरण को स्थगित करना पड़ा था.

यह भी पढ़े : Sankashti Chaturthi : मनोकामना पूर्ण करने वाला संकष्टी चतुर्थी व्रत आज, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि


श्रीलंका को 2020 चरण की मेजबानी करनी थी लेकिन महामारी के कारण पहले इसे 2021 में स्थगित कर दिया गया जिसके बाद फिर इसे 2022 में कराने का फैसला किया गया. पाकिस्तान को पहले 2022 एशिया कप की मेजबानी करनी थी, अब वह 2023 चरण की मेजबानी करेगा. टूर्नामेंट में जुड़ने वाली छठी टीम संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), कुवैत, सिंगापुर और हांगकांग में से होगी.

भारत ने सात बार इस प्रतियोगिता में खिताब हासिल किया है. भारतीय टीम 1984, 1988, 1990-91, 1995, 2010, 2016 और 2018 में चैंपियन बन चुकी है. भारत के बाद जीतने के मामले में श्रीलंका का नंबर आता है और श्रीलंका की टीम 5 बड़े खिताब जीतने में कामयाब रही है.

विराट ने एशिया कप के 16 मैचों में 766 रन बनाये हैं जिसमें 3 शतक और दो अर्धशतक भी शामिल हैं. कोहली ने एशिया कप में अपने वनडे करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी 183 रन बनाम पाकिस्तान खेली थी.

यह भी पढ़े : चैत्र माह में कृष्ण पक्ष की सप्तमी-अष्टमी को माता शीतला की करें उपासना, माता प्रसन्न करने के लिए करें ये काम


श्रीलंका ने एशिया कप के इतिहास में सबसे अधिक प्रदर्शन (14) भी किए हैं, इसके बाद भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश हैं जिन्होंने 13 बार टूर्नामेंट खेला है. बाकी दो बार पाकिस्तान ने 2000 और 2012 में जीत हासिल की है.