इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के इतिहास में आज एक बड़ा दिन है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आईपीएल के अगले सीजन में अहमदाबाद और लखनऊ (Ahmedabad and Lucknow) की टीमें भी खेलती दिखाई देंगी. आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप (RP-Sanjiv Goenka Group) (7,090 करोड़) और सीवीसी कैपिटल (5,200 करोड़) ने फाइनेंशियल बिड जीती है.

नई टीमों के लिए कौन-कौन से दावेदार मैदान में थे?

दो टीमों को खरीदने के लिए कुल 22 बिजनेस घरानों ने दिलचस्पी दिखाई है. इन सभी ने बोली के डॉक्युमेंट खरीदे हैं. बोली लगाने वालों में अडाणी ग्रुप (Adani Group, the Glazer family) , इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैचेस्टर (owners of English football club Manchester United) यूनाइटेड के मालिक ग्लेजर परिवार, टोरेंट फार्मा, अरबिंदो फार्मा, आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप, हिंदुस्तान टाइम्स मीडिया ग्रुप, पूर्व मंत्री नवीन जिंदल की जिंदल स्टील, रॉनी स्क्रूवाला और तीन प्राइवेट इक्विटी से जुड़े लोग शामिल हैं.

एक इन्वेस्टर एक से अधिक शहरों के लिए बोली लगा सकता है. हालांकि उसे केवल एक शहर का ही मालिकाना हक मिलेगा. बिड जीतने वालों का फैसला होने के साथ ही आज ही दोनों शहरों के नाम का भी ऐलान हो जाएगा.

अगले सीजन से टीमों की संख्या 10 हो जाएगी

इन टीमों के शामिल होने के बाद अगले सीजन से आईपीएल में टीमों की संख्या बढ़कर दस हो जाएगी. आईपीएल में मैचों की संख्या भी 60 से बढ़कर 74 हो जाएगी. खिलाडिय़ों के लिहाज से बात करें तो दो टीमें बढऩे से कम से कम 45 से 50 नए खिलाडिय़ों को आईपीएल में खेलने का मौका मिलेगा. इनमें भी 30 से 35 युवा भारतीय खिलाड़ी होंगे.