बेशुमार दौलत से भरपूर इंडियन प्रीमियर लीग के 2020 संस्करण के लिए 19 दिसम्बर को कोलकाता में होने वाली नीलामी के लिए 971 खिलाडिय़ों ने अपना पंजीकरण कराया है। आईपीएल नीलामी के लिए पंजीकरण 30 नवम्बर को समाप्त हो गया था। बीसीसीआई ने सोमवार को बताया कि 713 भारतीयों और 258 विदेशी खिलाडिय़ों सहित 971 खिलाडिय़ों ने नीलामी के लिए अपना पंजीकरण कराया है।


नीलामी से 73 खिलाड़ी खरीदे जाने हैं जिसके लिए 215 कैप्ड खिलाडिय़ों, 754 अनकैप्ड और एसोसिएट देशों से दो खिलाडिय़ों पर बोली लगेगी। क कैप्ड भारतीयों में 19 खिलाड़ी, अनकैप्ड भारतीय खिलाडिय़ों में 634 खिलाड़ी, अनकैप्ड भारतीय खिलाडिय़ों (जिन्होंने कम से कम एक आईपीएल मैच खेला है) में 60 खिलाड़ी, कैप्ड अंतर्राष्ट्रीय खिलाडिय़ों में 196 खिलाड़ी और अनकैप्ड अंतर्राष्ट्रीय खिलाडिय़ों में 60 खिलाड़ी शामिल हैं।

फ्रैंचाइजी टीमों के पास खिलाडिय़ों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए नौ दिसम्बर शाम पांच बजे तक का समय रहेगा जो खिलाडिय़ों की अंतिम नीलामी सूची में जगह बनाएंगे। पंजीकृत कराने वाले विदेशी खिलाडिय़ों में अफगानिस्तान से 19, ऑस्ट्रेलिया से 55, बंगलादेश से 6, इंग्लैंड से 22, हॉलैंड से 1, न्यूजीलैंड से 24, दक्षिण अफ्रीका से 54, श्रीलंका से 39, अमेरिका से 1, वेस्ट इंडीज से 34 और जिम्बाब्वे से 3 खिलाड़ी शामिल हैं।


आईपीएल के 13वें सत्र की नीलामी से पहले आठ टीमों ने कुल 35 विदेशी खिलाडिय़ों सहित 127 खिलाडिय़ों को रिटेन किया है जबकि नीलामी में 29 विदेशी खिलाडिय़ों सहित 73 खिलाडिय़ों को खरीदनेे पर बोली लगेगी। आठ टीमें 472.35 करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है और नीलामी में खरीद के लिए उनके पास 207.65 करोड़ रुपये का पर्स बचा है। चेन्नई सुपर किंग्स ने 20, दिल्ली कैपिटल्स ने 14, किंग्स इलेवन पंजाब ने 16, कोलकाता नाइट राइडर्स ने 14, मुंबई इंडियंस ने 18, राजस्थान रॉयल्स ने 14, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 13 और सनराइजर्स हैदराबाद ने 18 खिलाडिय़ों को रिटेन किया है।


नीलामी में चेन्नई सुपर किंग्स को कुल पांच, दिल्ली कैपिटल्स को 11, किंग्स इलेवन पंजाब को नौ, कोलकाता नाइट राइडर्स को 11, मुंबई इंडियंस को सात, राजस्थान रॉयल्स को 11, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 12 और सनराइजर्स हैदराबाद को सात खिलाड़ी खरीदने हैं। चेन्नई ने 70.40 करोड़ रुपये, दिल्ली कैपिटल्स ने 57.15 करोड़ रुपये, किंग्स इलेवन पंजाब ने 42.30 करोड़ रुपये, कोलकाता नाइट राइडर्स ने 49.35 करोड़ रुपये, मुंबई इंडियंस ने 71.95 करोड़ रुपये, राजस्थान रॉयल्स ने 56.10 करोड़ रुपये, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 57.10 करोड़ रुपये और सनराइजर्स हैदराबाद ने 68 करोड़ रुपये का पर्स खर्च कर लिया है।


नीलामी में चेन्नई के पास 14.60 करोड़ रुपये, दिल्ली कैपिटल्स के पास 27.85 करोड़ रुपये, किंग्स इलेवन पंजाब के पास 42.70 करोड़ रुपये, कोलकाता नाइट राइडर्स के पास 35.65 करोड़ रुपये, मुंबई इंडियंस के पास 13.05 करोड़ रुपये, राजस्थान रॉयल्स के पास 28.90 करोड़ रुपये, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के पास 27.90 करोड़ रुपये और सनराइजर्स हैदराबाद के पास 17 करोड़ रुपये का पर्स उपलब्ध रहेगा।


गौर हो कि असम के क्रिकेटर रियान पराग पहली बार पिछले इंडियन प्रीमियर लीग का हिस्सा थे। उन्हें राजस्थान के जयपुर में हुए आईपीएल निलामी में राजस्थान रॉयल्स ने खरीदा था। बता दें कि उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने 20 लाख रुपए में आईपीएल नीलामी में खरीदा था। हालांकि वह नीलामी में सबसे सस्ते बिके खिलाड़ियों में से एक थे।


आईसीसी अंडर -19 क्रिकेट वर्ल्ड के लिए 16 सदस्यीय टीम में चुने गए पराग ने युवा टेस्ट में दूसरी सबसे तेज फिफ्टी जमाई थी। उन्होंने मुंबई में अंडर-19 चैलेंजर ट्रॉफी में इंडिया रेड के लिए शतक लगाया था। उनका जन्म असम के गुवाहाटी में 10 नवंबर 2001 को हुआ था।


उन्होंने अपना ट्वंटी-20 डेब्यू असम की टीम में 2016-17 में किया था। 2017 में रियान इंटर स्टेट ट्वेंटी-20 टूर्नामेंट में खेले थे। इसके बाद इनका चयन इंडियन टीम में 2017 एसीसी अंडर-19 एशिया कप के लिए किया गया। वहीं फर्स्ट क्लास क्रिकेट में इनका डेब्यू 2017-18 में रंजी ट्रॉफी के लिए असम के टीम में हुआ। पिछले साल दिसंबर में इनका चयन 2018 अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए हुआ। इन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में सात मौचों में 248 रन बनाए थे।