सिक्किम के वाणिज्य एवं उद्योग विभाग द्वारा आयोजित एक दिवसीय स्टार्टअप कार्यक्रम में बड़ी संख्या में स्वयं सहायता समूहों, महिला उद्यमियों, महत्वाकांक्षी व्यवसायियों और विश्वविद्यालय के छात्रों ने भाग लिया। 

सिक्किम में फिर तेज हुई गोरखालैंड की मांग, जानिए क्या है पूरा मामला


सिक्किम स्टार्टअप इकोसिस्टम नामक कार्यक्रम की सह-मेजबानी सिक्किम के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम-विकास संस्थान ने की। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक सोनम वेनचुंगपा ने कहा, उद्यमिता को गंभीरता से लेना होगा। यह आपकी जिंदगी बदल देगी। एमएसएमई , वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के निदेशक, एम रविकुमार ने इच्छुक उद्यमियों और विकास-चरण के व्यवसायियों के लिए राज्य की नीति प्रोत्साहन पर प्रकाश डाला। 

सिक्किम के CM तमांग ने प्रदान की चार मेडिकल छात्रों को वित्तीय सहायता


उन्होंने सरकार द्वारा उद्यमिता में लगे लोगों को उपलब्ध कराए गए विभिन्न ऋणों और सब्सिडी के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य में हस्तशिल्प, कालीन बुनाई और कपड़ा, वर्मीकम्पोस्ट बनाने, मांस और जूस सहित प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ बनाने, टाइल बनाने या आपूर्ति करने सहित पारंपरिक उद्योगों ने काफी प्रगति की है। उन्होंने बताया कि इलेक्ट्रिक वाहनों और बाइक का विपणन, पर्यटन-होमस्टे, वेलनेस क्लीनिक, अचार, सुअर पालन, मुर्गी पालन और उच्च गुणवत्ता वाली छपाई जैसे अन्य ऐसे क्षेत्रों में निवेश की काफी गुजाइश है।