सिक्किम में पति के साथ घूमने गई कैलाश कॉलोनी की 28 वर्षीय प्रीति की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। बुधवार को शव नदी से मिला है। हाल ही में प्रीति चंडीगढ़ के सेक्टर-23 में अपनी मौसी के घर पर गई हुई थी।

4 अप्रैल को पति सतिंदर के कहने पर प्रीति चंडीगढ़ से फ्लाइट लेकर दिल्ली पहुंची और वहां से पति के साथ सिक्किम चली गई। लेकिन 6 अप्रैल की सुबह वह नदी में डूबी मिली। पुलिस जांच कर रही है। प्रीति के घरवाले शव लेकर सिक्किम से निकल चुके हैं। वे शुक्रवार दोपहर तक चंडीगढ़ पहुंचेंगे।

प्रीति के पति एयरफोर्स में इंजीनियर हैं और उनकी ड्यूटी इस समय बांग्लादेश बॉर्डर पर एयरफोर्स स्टेशन पर है। प्रीति की 2013 में रोहतक निवासी सतिंदर सुहाग से शादी हुई थी। प्रीति की मां की 1989 में मौत हो गई थी। चंडीगढ़ सेक्टर-23 में मौसी अंजू ने ही प्रीति व उसके भाई-बहन को पाला था। अंजू ने ही प्रीति और उसके भाई-बहनों की शादी करवाई थी।

मौसी अंजू के मुताबिक पति-पत्नी तीस्ता नदी के पास कैंप में थे। 5 अप्रैल को दोनों ने ड्रिंक की। सतिंदर ने खाना खाया, लेकिन प्रीति ने मना कर दिया। इसके बाद रात को दोनों सो गए। 6 अप्रैल की सुबह सतिंदर जब उठे तो उन्होंने देखा कि पत्नी साथ में नहीं है। बाहर जाकर देखा कि कुछ लोग नदी किनारे जमा हो रखे थे। इसके बाद यहां सेक्टर-22 चौकी में सूचना दी गई।

सतिंदर सुहाग अपनी पत्नी के लिए रोहतक में 200 गज की कोठी तैयार करवा रहे थे। सतिंदर के 2 बच्चे है। 7 साल का ध्रुव और ढाई साल की दिशा। जो इस समय रोहतक में ही दादी के पास रहते हैं।

अंजू के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान भी प्रीति उनके पास ही रही थी। वह उसे मां बोलती थी। मौसी का कहना है कि उन्हें किसी पर कोई शक नहीं है। वहीं, सिक्किम पुलिस प्राथमिक स्तर पर मान रही है कि प्रीति वॉशरूम जाने के लिए उठी और फिर गलती से पानी में गिर गई। क्योंकि शरीर पर किसी भी चोट का निशान नहीं है।