कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोग 5 जुलाई से सिक्किम का दौरा कर सकते हैं। राज्य में कोरोना वायरस के मामलों में काफी गिरावट आई है, जिसकों देखते हुए राज्य सरकार ने रविवार को देश के अन्य हिस्सों से आने वाले लोगों के प्रवेश पर से अस्थायी प्रतिबंध हटा लिया है। सिक्किम सरकार ने इस साल मार्च में COVID-19 मामलों में वृद्धि के बाद पर्यटकों के राज्य में प्रवेश पर रोक लगा दी थी।

राज्य के गृह विभाग ने एक अधिसूचना में कहा कि पूरी तरह से वैक्सीनेट लोग बॉर्डर चेक-गेट पर अपना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाकर पूर्वी सिक्किम में रंग्पो और दक्षिण सिक्किम में मेली के माध्यम से हिमालयी राज्य में प्रवेश कर सकते हैं। राज्य सरकार ने होटल, गेस्ट हाउस और होमस्टे को भी सोमवार से 50 प्रतिशत क्षमता और कोरोना प्रोटोकॉल के सख्ती से पालन के साथ खोलने की इजाजत दी है।

शॉपिंग मॉल, शोरूम और दुकानों को भी सुरक्षा दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए पूरी क्षमता से खोलने की इजाजत दी गई है। अधिसूचना में कहा गया है कि सभी सरकारी कार्यालय पूरी तरह से वैक्सीनेट कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं। जबकि जिन कर्मचारियों को अभी तक दोनों डोज नहीं लगी है, वे 50 प्रतिशत उपस्थिति की मौजूदा व्यवस्था के साथ काम करेंगे।

सभी कारखाने और वाणिज्यिक प्रतिष्ठान भी 100 प्रतिशत क्षमता पर काम कर सकते हैं, बशर्ते कर्मचारियों पूरी तरह से वैक्सीनेट हों। निकाय के एक कार्यकारी सदस्य ने बताया, “सिक्किम होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन (SHRA) पर्यटन उद्योग को खोलने के राज्य सरकार के फैसले का स्वागत करता है। यह सिक्किम की अर्थव्यवस्था का मुख्य आधार है। हम कोविड ​​​​दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करेंगे।”

उन्होंने दावा किया कि राज्य के पर्यटन उद्योग को पिछले साल कोरोनो वायरस के कारण लगे लॉकडाउन से लगभग 600 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। हिमालयी राज्य सिक्किम में कोरोना के अब तक कुल 21,131 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 2,101 का इलाज चल रहा है। जबकि 18,469 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं। वहीं, 308 ने संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया है।