कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए मार्च महीने से ही ठप दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे (डीएचआर) के तहत चलने वाली ट्वॉय ट्रेन 25 दिसंबर से फिर से चलेगी। इस तरह से कहें तो पर्यटकों को क्रिसमस का तोहफा मिला है। डीएचआर द्वारा मिली जानकारी के अनुसार ट्वॉय ट्रेन सेवा शुरू करने के लिए दार्जिलिंग जिला प्रशासन ने बुधवार को अनुमति दे दी है। इस बारे में डीएचआर निदेशक एके मिश्रा ने बताया कि कोरोना वायरस के इस महामारी के दौर में ट्वॉय ट्रेन सेवा शुरू करने के लिए जिला प्रशासन से अनुमति जरूरी थी। बुधवार को जिला प्रशासन से अनुमति मिल गई। 25 दिसंबर से ट्वॉय ट्रेन की सेवा शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि पहले दार्जिलिंग-घूम-दार्जिलिंग ज्वॉय राइड सेवा शुरू की जाएगी।

दो स्टीम लोकोमोटिव तथा एक डीजल लोकोमोटिव इंजन युक्त व प्रथम श्रेणी व विस्टाडम कोच के साथ टवॉय ट्रेन की सेवा शुरू की जा रही है। प्रत्येक दिन ट्वॉय ट्रेन की अप व डाउन की तीन-तीन सेवाएं शुरू की जा रही है। इस दौरान पर्यटकों को बतासिया इको गार्डेन व गोरखा वार मेमोरियल का अवलोकन करने का अवसर प्राप्त होगा। बाहर से आने लगे हैं पर्यटक दूसरी ओर डीएचआर के आधिकारिक सूत्रों बताया गया कि दार्जिलिंग में धीरे-धीरे कोलकाता समेत देश के अन्य जगहों से पर्यटक जाने लगे हैं।

डीएचआर प्रशासन दो महीने पहले से ट्वॉय ट्रेन सेवा शुरू करने के लिए तैयार है। इसके लिए जिला प्रशासन को अक्टूबर महीने के पहले सप्ताह में अनुमति के लिए चिट्ठी भी दी गई थी। लेकिन तब अनुमति नहीं मिलने के कारण ट्रेन को चला पाना संभव नहीं हुआ है। कोरोना वायरस महामारी के चलते इस वर्ष 25 मार्च से ही ठप ट्वॉय ट्रेन सेवा शुरू करने से पहले जिला प्रशासन की अनुमति की आवश्यकता थी। पर्यटन कारोबारी हुए गदगद दूसरी ओर ट्वॉय ट्रेन सेवा शुरू होने की अनुमति मिलने से पर्यटन उद्योग से जुड़े संगठनों ने भी खुशी व्यक्त की है।

हिमालयन हॉस्पिटैलिटी एंड टूरिज्म डेवलपमेंट नेटवर्क के सचिव सम्राट सन्याल का कहना है कि धीरे-धीरे दक्षिण बंगाल समेत देश के विभिन्न भागों से पर्यटक इस क्षेत्र में आने लगे हैं। दार्जलिंग तथा सिक्किम घूमने आने वाले पर्यटक एक बार ट्वॉय ट्रेन की सवारी करना जरूर चाहते हैं। 25 दिसंबर क्रिसमस से इस ट्रेन की सेवा शुरू हो रही है। नववर्ष के मौके पर दार्जिलिंग आने वाले पर्यटकों को ट्वॉय ट्रेन की की सवारी करने का मजा मिलेगा।