सिक्किम विद्यार्थी मंच, शिक्षा विभाग सिक्किम सरकार व सांसद इंद्र हाग सुब्बा के संयुक्त संयोजन में 12 फरवरी से 14 फरवरी के मध्य महात्मा गाधी मार्ग (एमजी मार्ग गंगटोक) में पुस्तक प्रदर्शनी का आयोजन होगा। सिक्किम के राज्य भाषा के रूप में मान्यता प्राप्त 13 भाषाओं की पुस्तकों की प्रदर्शनी लगेगी । स्थानीय भाषा, स्थानीय रचनाकारों और उनकी रचनाओं को बड़ा मंच प्रदान करना, वर्तमान तकनीकी विकास के इस दौर में युवाओं में पुस्तकों के महत्त्व को सिद्ध करना और उसके पठन-पाठन को प्रेरित करना इसका लक्ष्य है।

इसी संदर्भ में सिक्किम में हिंदी के प्रचार-प्रसार में लगी हुई संस्थाओं के संयुक्त सहयोग से हिंदी की पुस्तक प्रदर्शनी कार्य संपन्न होना है। इसी विषय को केंद्र में रखकर महात्मा गाधी मार्ग में स्थित गोल्डन टिप्स में महिला काव्य मंच, हिंदी साहित्य सेवा समिति और हिंदी साहित्य भारती के महत्वपूर्ण सदस्यों के मध्य एक बैठक संपन्न हुई। यह प्रथम अवसर है जहा एक लक्ष्य को लेकर सिक्किम की हिंदी सेवी संस्थाएं एक मंच पर उपस्थित होंगे। इस कार्यक्रम की संयोजिका ममता अवस्थी ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी सदस्यों का औपचारिक स्वागत करते हुए पुस्तक प्रदर्शनी से संबंधित हुई पूर्व बैठकों का उल्लेख किया।

संयोजिका ने हिंदी सेवी संस्थानों से इस प्रदर्शनी में किस तरह अपना सहयोग दे सकते हैं उसके बारे में विचार रखने का निवेदन किया। इसमें कुल ग्यारह लोगों की सहभागिता रही इसमें हिंदी साहित्य भारती की अध्यक्ष डा चुकी भूटिया, महिला काव्य मंच की अध्यक्ष भक्ति शर्मा, हिंदी साहित्य सेवी समिति के अध्यक्ष भीम ठटाल के साथ लेखन में अपना महत्वपूर्ण हस्तक्षेप रखने वाले रचनाकार जिनमें रूपा तामड, मणिका शर्मा, दीपा राई, तुलसी घिमिरे, राधा पाण्डे, रत्न लक्सम सुब्बा और केसाग डोमा भूटिया उपस्थित थे।

हिंदी साहित्य सेवी समिति के अध्यक्ष एवम् शिक्षा विभाग के निदेशक भीम ठटाल ने सिक्किम में हिंदी की सेवा करने वाले अनेक रचनाकारों और उनके वैशिष्ट्य का उल्लेख किया जो इस प्रदर्शनी में अपना सहयोग दे सकते हैं। उन्होंने इस पुस्तक प्रदर्शनी में सिक्किम राज्य के साहित्यकार, पत्रकार, शिक्षक, विद्यार्थी सभी को सहयोगी और सहभागी बनने का आह्वान किया। सदस्यों में पुस्तक प्रदर्शनी कार्यक्रम की रुपरेखा निर्माण को लेकर लम्बी चर्चा परिचर्चा हुई। सभी सदस्यों ने अपने स्तर पर इस प्रदर्शनी के निमित्त जो सहयोग बन सकता है वह देने का आश्वासन दिया। अंत में कार्यक्रम की संयोजिका ममता अवस्थी ने सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए बैठक की समापन की घोषणा की।