देश में नक्शों को लेकर काफी घमासान हो रहा है। काफी नेपाल तो चीन इन मामलों में आगे रहते हैं। लेकिन इस बार इन दोनों देशों का कोई रोल नहीं बल्कि देश के ही लोग हैं तो भारत का नक्शा बिगाड़ने में लगे हुए हैं। आपको इस बात का यकिन नहीं होगा कि गलती से ही सही लेकिन देश की राजधानी के सीएम अरविंद केजरीवास से एक मिस्टेक हो ही गई है।


हुआ यूं कि अरविंद केजरीवाल की दिल्ली सरकार ने अखबारों में सिविल डिफेंस कॉर्प्स के लिए स्वयंसेवकों के नामांकन के लिए एक विज्ञापन निकाला था। जिस पर सियासी घमासान शुरू हो गया है।  अखबार में प्रकाशित विज्ञापन में जो लोग आवेदन कर रहे थे, वे भारत, भूटान, नेपाल या सिक्किम के थे और ये कहते हुए प्रतीत हो रहे थे कि सिक्किम एक अलग देश है।


इस पर सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने कहा कि "अपमानजनक" विज्ञापन तुरंत वापस लिया जाना चाहिए। यह सिक्किम के लोगों के लिए "बेहद दर्दनाक" है। यही नहीं उन्होंने ट्विट कर लिखा कि सिक्किम के लोग इस महान भारत देश के नागरिक होने पर गर्व करते हैं क्योंकि यह 16 मई 1975 को भारतीय संघ का 22 वां राज्य बना था।