सिक्किम में एसकेएम सरकार ने सत्ता में तीन साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने पार्टी में विश्वास व्यक्त करने के लिए राज्य के लोगों का आभार व्यक्त किया। तमांग ने अपने संदेश में कहा कि उनकी सरकार राज्य के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) ने 2019 में पवन कुमार चामलिंग के नेतृत्व वाले सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के 25 साल के शासन को समाप्त करते हुए पहाड़ी राज्य में सत्ता पर कब्जा कर लिया था।

ये भी पढ़ेंः अब सिक्किम पर टूटा अफ्रीकी स्वाइन फीवर का कहर, लगा दिया बिक्री पर बैन


अपनी सरकार की प्रमुख उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए तमांग ने कहा, स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे और सेवाओं, जिन्हें पिछली सरकार ने 25 वर्षों तक उपेक्षित किया था, राज्य में हमारी पार्टी की सरकार बनने के बाद सुधार हुआ है। राज्य में लोग अब गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि एसकेएम सरकार ने मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता प्रकोष्ठ और गैर-लाभकारी राजनीतिक संगठन 'गरीब जन कल्याण प्रकोष्ठ' से भी जनता को चिकित्सा सहायता प्रदान की है। भविष्य की योजनाओं को साझा करते हुए तमांग ने कहा कि सरकार ने सोरेंग में 100 बिस्तरों वाले अस्पताल के अलावा नामची और सिंगटम में आधुनिक सुविधाओं से लैस अत्याधुनिक अस्पताल बनाया जाएगा।  तमांग ने कहा कि इसके अलावा कई अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं को अपग्रेड करने की परियोजनाएं भी चल रही हैं।

ये भी पढ़ेंः दो साल बाद सिक्किम बना कोविड मुक्त राज्य


मुख्यमंत्री ने कहा कि एसकेएम सरकार भी सिक्किम को एक शिक्षा केंद्र बनाने के लिए गंभीर प्रयास कर रही है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए नेताजी सुभाष चंद्र बोस यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सीलेंस और खानचेंदजोंगा स्टेट यूनिवर्सिटी जैसे विश्व स्तरीय शैक्षणिक संस्थानों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए स्थापित किया गया है।  उन्होंने राज्य की राजधानी के मनन केंद्र में एक समारोह में भाग लिया, जो एसकेएम सरकार के सत्ता में तीन साल पूरे होने का जश्न मनाने के लिए आयोजित किया गया था।