राज्य की सत्ता एसकेएम के हाथ में आने के बाद राज्य में शाति कायम है, यह दावा एसकेएम नारी शक्ति की अध्यक्षा कला राई ने किया है। अध्यक्ष राई नामची सिंगिथाग खेल मैदान में आज से शुरु हुई नारी शक्ति समन्वय सभा को संबोधित कर रही थी। यह सभा पोकलोक-कामराग के नारी शक्ति को लेकर आयोजित किया गया था। उन्होंने कहा कि यह सभा पार्टी के सुप्रीमो तथा मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामाग के निर्देश में किया गया है। पार्टी अध्यक्ष चाहते हैं कि केवल पार्टी के पदाधिकारी ही नहीं बल्कि कार्यकर्ता भी पार्टी में अग्रिम भूमिका का निर्वाह करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी में भी एसकेएम सरकार हाथ बाधकर नहीं बैठी थी, सदा जनता की सेवा के लिए सरकार प्रतिबद्ध रही है।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार पर तानाशाही राज का गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा की एसडीएफ पार्टी की सरकार ने 25 सालों तक जनता को जात और धर्म में विभाजन कर तानाशाही राज किया था। एसकेएम पार्टी कभी भी हिंसक भाषण नहीं देगी और सब को समानता में लाकर काम करेगी,यह सरकार को गठन हुए दो साल भी नहीं हुए है। इस बालक सरकार को विपक्षी पार्टी के लोग आरोप लगाते रहते है, लेकिन 25 सालों में जो काम एसडीएफ पार्टी ने नहीं किया था वह काम एसकेएम सरकार पूरा कर रहा है, उन्होने कहा।

दूसरी ओर नारी शक्ति महासचिव पूजा शर्मा ने नारी को केवल व्यक्तिगत ही नहीं सामाजिक विकास में भी आगे आने की अपील की। उन्होंने नारी को अपनी शक्ति महसूस करने की आह्वान की। उन्होंने आगे कहा कि एसकेएम सरकार द्वारा राज्य की महिलाओं को प्रतिठति सरकारी अहोदे में रखा गया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामाग की धर्मपत्नी कृष्णमाया राई द्वारा विभिन्न संघ-संस्थाओं के लिए तैयार किए सामग्रियों को मुख्य अतिथि के बाहुली से वितरित किया गया।