सिक्किम नेशनल पीपुल्स पार्टी (SNPP) के अध्यक्ष, जो कई वर्षों से विपक्ष में हैं, का आज सुक्किम क्रांतिकारी मोर्चा पार्टी (SKM) में विलय हो गई है। मुख्यमंत्री प्रेम सिंह की उपस्थिति में गंगटोक पूर्वी सिक्किम के सम्मान भवन में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान SNPP के कुल 294 सदस्य सत्तारूढ़ SKM पार्टी में शामिल हो गए हैं।

यह स्पष्ट हो गया है कि पार्टी के अध्यक्ष डेली नामग्याल बरफुंगा के SKM पार्टी के झंडे के नीचे आने के बाद पार्टी का पूरी तरह से विलय हो गया है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माननीय मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने कहा कि SNPP पार्टी का गठन वर्ष 2008 में हुआ था। हालांकि इसके पार्टी अध्यक्ष डेले नामग्याल बरफुंगा ने दावा किया कि उन्होंने कभी अपने कल्याण के लिए राजनीति नहीं की।

यह भी पढ़ें- मेघालय का असम के साथ सीमा विवाद के अंतिम सौदे पर ग्रामिण ना जताए नाराजगी: HSPDP अध्यक्ष

पार्टी के अध्यक्ष डेले नामग्याल बरफुंगा 14 साल से किसी पार्टी में शामिल नहीं हुए हैं और विपक्षी दल के रूप में काम कर रहे हैं। माननीय मुख्यमंत्री ने बताया कि श्री बरफुंगा ने कहा कि उन्हें उनकी कार्यशैली पसंद है क्योंकि वह हमेशा SKM पार्टी के शुभचिंतक थे। उन्होंने सभी से सिक्किम के लोगों के लिए मिलकर काम करने का आग्रह किया।

यह भी पढ़ें-  KHADC में चुनाव आयोग की नहीं है कोई योजना, पनियैड सिंग ने किया ऐलान

मुख्यमंत्री तमांग ने सिक्किम के विकास के लिए सभी से मिलकर काम करने की अपील की। उन्होंने दावा किया कि SKM पार्टी अब तक अच्छा काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पार्टी में पुराने और नए की कोई परंपरा नहीं थी। मुख्यमंत्री ने बताया कि वह पार्टी कार्यकर्ताओं को किसी भी प्रकार की सहायता प्रदान करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। उन्होंने आश्वासन दिया कि सभी दल मिलकर काम करेंगे।