देश के उत्तरी राज्यों में जहां एक तरफ गर्मी कहर बरपा रही है। वहीं, उत्तर पूर्वी राज्यों में भारी बारिश ने आम जनजीवन को परेशान कर रखा है। पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम में पिछले 2 दिनों से हो रही जबरदस्त बारिश के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए भूस्खलन में 8 लोगों के दब गए।

यह भी पढ़ें : असम बाढ़ की तबाही से ग्रसित लोगों की मदद के लिए सत्संग बिहार के प्रतिनिधियों ने राहत कोष में दिए 1 करोड़ रुपये

खबर है कि सेना ने भूस्खलन के कारण दबे हुए लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू अभियान शुरू किया है। जिसमें सेना ने दबे हुए 8 लोगों का रेस्क्यू कर उन्हें इलाज के लिए सैन्य अस्पताल भेज दिया गया था। जिसमें इलाज के दौरान एक शख्स ने दम तोड़ दिया।

एनएच अधिकारियों के मुताबिक गंगटोक-नाथुला हाईवे पर 17वें माइल के आस-पास यह भूस्खलन की घटना एजी कंस्ट्रक्शन कंपनी के मेस रूम में हुई, जिसमें कुछ मजदूरों के फंसे होने की आशंका जताई गई थी। इसकी जानकारी लगते ही सेना ने मोर्चा संभालते हुए ब्लैक कैट डिवीजन की टीम को उनके रेस्क्यू के काम में लगा दिया।

यह भी पढ़ें : बाढ़ ने बराक घाटी टी इंडस्ट्री को कर दिया बर्बाद, आर्थिक संकट से जूझ रहा उद्योग

सेना की टीम ने भूस्खलन के बाद मलबे से कुल आठ लोगों का सुरक्षित रेस्क्यू करने के बाद उन्हें इलाज के लिए नजदीकी सैन्य अस्पताल में भर्ती किया था। जहां इलाज के दौरान एक शख्स की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार मरने वाले शख्स की पहचान 35 वर्षीय कालू तमांग के रूप में हुई है जो अरुणाचल प्रदेश का रहने वाला है।