फिल्म निर्माताओं के लिए प्राकृतिक फिल्म सेट है सिक्किम। यह कहना है सिक्किम चलचित्र विकास बोर्ड की अध्यक्ष पूजा शर्मा का। उन्होंने उक्त बातें 22 मार्च सोमवार को नयीं दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में सिक्किम को 67वा राष्ट्रीय चलचित्र पुरस्कार अंतर्गत मोस्ट फिल्म फ्रेंडली अवार्ड से नवाजा जाने के संदर्भ में कही। उक्त अवार्ड के लिए देश के 13 राज्यों के नाम शामिल थे। उन्होंने कहा कि यह सिक्किम के लिए एक बड़ी सफलता है। 

उन्होंने कहा कि इस अवार्ड से सिक्किम को विश्व में परिचय मिलेगा। उन्होंने आगे कहा कि आज तक राज्य में बालीवुड, नेपाली और साउथ इंडियन चलचित्र छायाकन हो रहे हैं। सरकार भी राज्य में चलचित्र नीति को सजग करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने आगे कहा कि अब सिक्किम के कलाकारों को बड़े पर्दे में काम करने का मौका, इस क्षेत्र में काम करनेवाले युवाओं को रोजगार, पर्यटन व्यवसायीयों का आíथक विकास और सिक्किम को विश्व में परिचित करने के लिए यह अवार्ड महत्वपूर्ण भूमिका दिखाएगी। 

उन्होंने कहा कि अब तक लोग सिक्किम को पर्यटन स्थल के लिए जानते थे। बड़े पर्दे के फिल्म मेकर्स को यह पता नहीं था कि सिक्किम में चलचित्र बन सकती है। उन्हेंने आगे कहा कि फिल्म निर्माण की लोकेसन में सिक्किम कश्मीर से कम नहीं है, इतना खासियत है। उन्होंने कहा कि सिक्किम फिल्म निर्माताओं के लिए प्राकृतिक फिल्म सेट है। फिल्म के माध्यम से सिक्किम सरकार की कोष में बढोत्तरी होगी। 

राज्य में फिल्म निर्माताओं के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि साल 2019 में नेपाली और साउथ इंडियन चलचित्र और 2021 के शुरुआती दिन से ही चलचित्र छायाकन शुरु हुआ है। पूजा शर्मा ने कहा कि नेपाल की 90 प्रतिशत फिल्म का सिक्किम में छायाकन हो रहा है। 2020 में कोविड-19 महामारी के कारण राज्य को बहुत नुकसान हुआ था। उस समय बहुत सारी फिल्म प्रोडक्सन हाउस सिक्किम नहीं आसके। 

उन्होंने सिक्किम में फिल्म सिटी निर्माण के लिए केंद्र सरकार से भी हरी झडी मिली है कहा। इसके साथ ही उन्होंने सिक्किम में ग्लोबल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन कर उसमें फिल्म प्रोड्यूसरों को आमंत्रित करने की जानकारी दी। उन्होंने फिल्म निर्माण के लिए पश्चिम सिक्किम की प्राकृतिक धरोहर और हरियाली, दक्षिण सिक्किम की तिमी चाय बागान, पूर्वी सिक्किम के छागू पोखरी और उत्तर सिक्किम के युमथाग वेल्ली और जीरो प्वाइंट आदि योग्य स्थान बताया। पूजा शर्मा ने राज्य सरकार द्वारा फिल्म मेकरों के लिए सब्सिडी देने की जानकारी दी। उन्होंने फिल्म फेडरेशन अफ इंडिया और इससे संबंधित सभी संघसंस्थाओं के प्रति आभार व्यक्त किया।

दूसरी ओर इस बारे में बोलते हुए सिक्किम फिल्म बोर्ड की अनरेरी सलाहकार अनिता गुप्ता ने कहा कि यह अवार्ड साल 2019-20 के लिए सिक्किम को मिला है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण पिछले साल अवार्ड कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया था। यह सिक्किम के लिए महत्वपूर्ण अवार्ड है। इस अवार्ड के माध्यम से सिक्किम को राष्ट्रीय मंच मिला है। उन्होंने आगे कहा कि यहा फिल्म छायाकन होने से स्थानीय कलाकारों को फायदा होगा। इस अवार्ड से यहा के स्थानीय कलाकारों को प्रोत्साहन मिलेगी। उन्होंने कहा कि सिक्किम भविष्य में अंतर्राष्ट्रीय स्तर में भी प्रख्यात होगी और न केवल बालीवुड यहा हालीवुड और अन्य क्षेत्र के चलचित्र भी आएंगे।