गंगटोक। सिक्किम के मुख्यमंत्री पी एस तमांग ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार अग्निवीरों का रक्षा बलों में कार्यकाल पूरा होने पर उन्हें राज्य की विभिन्न पुलिस सेवाओं में नौकरी मुहैया कराएगी। तमांग ने सशस्त्र बलों में छोटी अवधि की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना की प्रशंसा करते हुए कहा कि इसने सिक्किम के युवाओं के लिए एक मार्ग खोल दिया है। 

ये भी पढ़ेंः जम्मू कश्मीर में फिर हुआ लक्षित हमला, इस बार ऑफ ड्यूटी पुलिस उप निरीक्षक फारूक की हुई हत्या


उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति ने अग्निपथ योजना की शुरुआत करके एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया। यह योजना 17 से 21 वर्ष की आयु के पुरुषों और महिलाओं को भारतीय सशस्त्र बलों में भर्ती करने की अनुमति देगी और उन्हें अग्निवीर के रूप में जाना जाएगा। 

उन्होंने कहा कि सिक्किम सरकार अग्निपथ योजना के तहत भर्ती किए गए अग्निपथ कर्मियों को रक्षा बलों में उनका कार्यकाल पूरा होने पर राज्य की पुलिस सेवाओं में नौकरी प्रदान करेगी। यह योजना पिछले दो वर्षों में सशस्त्र बलों की कमी को दूर करेगी और हमारे युवाओं के लिए रास्ते खोलेगी। 

ये भी पढ़ेंः अग्निपथ योजनाः अग्निवीरों को मिलेगा एक और बड़ा तोहफा, पुलिस बलों और असम राइफल में 10 प्रतिशत सीटें रिजर्व


तमांग ने कहा, 'मैं इस दूरदर्शी निर्णय के लिए मोदी जी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जी की सराहना करता हूं तथा उनका आभार व्यक्त करता हूं, जो रक्षा प्रणाली को मजबूत करेगा एवं हमारे युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करेगा।'