गंगटोक। सिक्किम सरकार ने एम.बी.बी.एस का कोर्स करने वाले छात्रों को तोहफा दिया है। राज्य के 50 छात्रों को सरकार की ओर से नि:शुल्क कोर्स कराया जा रहा है। इसका उद्देश्य डॉक्टर बनने की इच्छा रखने वाले गरीब परिवार के छात्रों का सपना पूरा करना है। सिक्किमी मूलवासी आर्थिक रूप से असक्षम मेधावी छात्रों को डाक्टर बनने से कोई ना रोक सके इसलिए यह काम किया जा रहा है। इसकी जानकारी राज्य के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामाग (पीएस गोले) ने दी है। 

यह भी पढ़ें- कल 14 जून को त्रिपुरा में उप-चुनाव प्रचार के लिए आ रहे हैं TMC नेता अभिषेक बनर्जी

मुख्यमंत्री गोले रविवार को सिक्किम सेंटर रेफरल अस्पताल (सीआरएच) परिसर स्थित सिक्किम मणिपाल विश्वविद्यालय के सम्मेलन कक्ष में आयोजित सम्मान कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। निशुल्क एम.बी.बी.एस का कोर्स करने वाले 50 छात्रों द्वारा मुख्यमंत्री के लिए आयोजित अभिनंदन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि साल 2021 से पहले सिक्किम मणिपाल में एमबीबीएस के लिए केवल 100 सीट थे। इसमें राज्य सरकार के कोटे में 50 और 50 जेनेरल के लिए था। राज्य सरकार के अधीनस्थ कोटे में रहे 50 सीटों को दो भागों में विभाजित किया गया था। इसमें 20 सीट में पढ़ने वाले छात्रों को प्रति वर्ष 8 लाख 50 हजार रुपये और बाकी के 30 सीटों के छात्रों को प्रति साल 17 लाख 23 हजार रुपये फी देना पड़ता है।

उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान सरकार ने साल 2021 में मणिपाल से एमओयू हस्ताक्षर कर केंद्र से मणिपाल में एम.बी.बी.एस सीट बढ़ोतरी की माग की। केंद्र सरकार से अनुमति मिलने के बाद मणिपाल में 50 सीटों की बढ़ोत्तरी हुई है। इसके साथ ही मणिपाल में फिलहाल 150 एमबीबीएस कोटा है। इसमें राज्य सरकार के अधीन में 80 और जनरल में 70 सीट है। राज्य सरकार के अधीनस्थ 80 सीटों में 50 सीटों को निशुल्क कर दिया गया है। निशुल्क शिक्षार्जन करने वाले छात्रों को केवल छात्रावास की फीस और उनके व्य1ितगत प्रयोग में आने वाले खर्च करना होगा। बाकी के 30 सीटों में पढ़ने वाले छात्रों को पूरा फीस देना पड़ता है। मुख्यमंत्री ने छात्रों को जानकारी दी है कि उनकी एडमिशन में कुछ कानूनी बाधाएं आने वाला था। लेकिन में मेरी हस्तक्षेप के बाद यह समस्या नहीं आया। उनका कहना है कि निशुल्क एमबीबीएस छात्रों की एडमिशन में राजनीतिकरण नहीं किया गया।

यह भी पढ़ें- कार्बी आंगलोंग परिषद चुनाव में भाजपा ने सभी 26 सीटों पर दर्ज की जीत, कांग्रेस ने भी किया अच्छा प्रदर्शन

मुख्यमंत्री गोले ने आगे कहा कि राज्य सरकार स्वास्थ्य के क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा ध्यान दे रही है। राज्य में अस्पतालों का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार दक्षिण सिक्किम के नामची में 300 पलंग धारी अस्पताल निर्माण कर रही है। इसके साथ ही सिंगताम जिला अस्पताल को भी 300 पलंग धारी बनाया जाएगा। सिंगताम अस्पताल निर्माण के लिए सरकार ने 500 करोड़ रुपये अनुमोदित किया है। इसके अलावा सोरेंग जिला में 100 पलंग धारी और दक्षिण सिक्किम के कर्फेकटार में कैंसर अस्पताल का निर्माण किया जाएगा। मुख्यमंत्री का कहना है कि सभी पूर्वाधार सिक्किमी जनता के हित और उनकी सुविधा के लिए निर्माण किया जा रहा है।

कार्यक्रम के अवसर पर राज्य शिक्षा मंत्री कुंगा नीमा लेप्चा, स्वास्थ्य विभाग के मंत्री डॉ. एम.के शर्मा, सिक्किम मणिपाल विश्वविद्यालय के कुलपति अवकाशप्राप्त लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. राजन एस ग्रेवाल, मणिपाल के अन्य पदाधिकारी, विद्यार्थी और अभिभावक उपस्थित थे।