मानसून पूर्व की बारिश के कारण राज्य के नागरिक चिंतित हो उठे हैं। विगत कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण राज्य के विभिन्न स्थानों पर लोगों को भारी नुकसान हुआ है। मानसून में राज्य सरकार की तैयारिया जानने के लिए राजधानी के कुछ पत्रकार सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण कार्यालय पहुंचे थे। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अतिरिक्त निदेशक फिगू भूटिया ने पत्रकारों को राज्य सरकार की तैयारियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आगामी मानसून के लिए राज्य आपदा प्रबंधन पूर्ण रूप से तैयार है। 

उन्होंने कहा कि यहा से संबंधित विभागों को मानसून मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) भी दी गई है। प्राधिकरण के द्वारा प्रत्येक जिले में नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य आपदा प्राधिकरण अंतर्गत जिला में जिला आपदा प्रबंधन टोली को भी सक्रिय किया गया है, जिसके प्रमुख संबंधित जिलापाल रहेंगे। इसी प्रकार से किसी भी आपातकालीन सेवा के लिए नि:शुल्क सहायता नंबर 1070 भी जारी किया गया है जिस के मार्फत लोग 24 घटे लाभ उठा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ ही पाकिम स्थित नेशनल डिजास्टर रिस्पास फोर्स (एनडीआरएफ) को भी सतर्क किया गया है। इसी प्रकार रे स्टेट डिजास्टर रिस्पास फोर्स (एसडीआरएफ)को भी आने वाले मानसून के लिए सतर्क किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के द्वारा दक्षिण और पश्चिम जिला के लिए आईआरबी प्रशिक्षण केंद्र पीपले में एसडीआरएफ की एक टोली और उत्तर-पूर्वी जिला के लिए पूर्व जिला के पागथाग में एक टोली को तैयार किया गया है। इसके साथ ही मोबाइल नेटवìकग के लिए सेवा देने वाले सभी कंपनियों को भी सतर्क किया गया है।

उल्लेख किया जाता है कि राज्य में मानसून पूर्व हो रहे वारिस के कारण यहा के विभिन्न क्षेत्र में लोगों को भारी नुकसान हुआ है। इस नुकसान को भी राज्य आपदा राहत कोष के माध्यम से पीड़ित लोगों को राहत दी जाति है। जिसे प्रत्येक जिला के जिलापाल से मिल सकती है।