प्लास्टिक एक ऐसा पदार्थ है जो प्रकृति के लिए बेहद हानिकारक है। हम सभी इससे होने वाले नुकसान से परिचित हैं। ये हमारे पर्यावरण को हानि पंहुचाता है और अधिक मात्रा में प्रदूषण फैलाता है। बारिश के मौसम में इसमें जमे पानियों से मच्छरों की तादाद भी बढ़ती है। इसलिए ये आवश्यक है कि इसका उपयोग हम जितना कम करें उतना ही बेहतर है।

यह भी पढ़ें : यूक्रेन की तरह मणिपुर में फटने वाले थे बम, AssamRifles ने नाकाम किया आतंकियों का हमला

अब हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में Plastic भी शामिल हो चुका है। लोग अगर कहीं मार्केट जाते हैं तो वो कोई थैला लेकर नहीं जाते क्योंकि उनके अंदर एक सोच बस चुकी है कि समान तो बड़ी पॉलिथीन में मिल ही जायेगा। वैसे ही लोग घरों में ग्लास से पानी पीने के बावजूद बोतलों का उपयोग कर रहें हैं जो प्लास्टिक से बना है।

हालांकि प्लास्टिक से कुछ नया बनाने और इसका कम उपयोग होने के लिए बहुत सी कम्पनियां, संगठन, संस्थाएं आगे आ रही हैं और पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दे रही हैं। इसी कड़ी में सिक्किम भी आगे आया है और वह प्लास्टिक के खिलाफ अभियान के जरिए प्लास्टिक बोतल का उपयोग ना हो इसके लिए बांस की बोतलों का निर्माण कर रहा है।

यह भी पढ़ें : इस राज्य के मुख्यमंत्री ने दिखाई हिम्मत, पूरे विधायकों के साथ देखी The Kashmir Files

सिक्किम हम सभी के लिए उदाहरण बनकर सामने आया है। इसने अपने अभियान द्वारा पानी पीने के लिए बांस की बनी बोतल को लांच किया है। उनका यह मानना है कि हमारे यहां टूरिस्ट घूमने के लिए आते हैं वह प्लास्टिक की बोतलों (Plastic Bottle) का उपयोग कर उसे फेंक देते हैं जिससे प्रदूषण अधिक मात्रा में फैलता है। इसीलिए बांस की बोतलों का निर्माण किया जा रहा है जिससे गंदगी न फैले और पर्यावरण का संरक्षण भी हो।