मुख्यमंत्री प्रेम सिंह गोले ने पूर्व मुख्यमंत्री पवन चामलिंग पर वहां से चुनाव लड़ने के इरादे से नेपाल में बसने की योजना बनाने का आरोप लगाते हुए दावा किया है कि यह भारत की सुरक्षा के लिए खतरा हो सकता है। गोले का यह बयान नामची जिले के जोरथांग में सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा पार्टी के जन उन्मुक्ति दिवस समारोह के अवसर पर आया है।

ये भी पढ़ेंः खुशखबरीः असम सरकार ने चाय बागान श्रमिकों के दैनिक वेतन में की इतने रुपए की बढ़ोत्तरी

गोले ने चामलिंग की ओर निर्देशित अपने संबोधन में साझा किया, “आज कोई बाघ सरकार नहीं चला रहा है, मैंने लोगों को वापस देने के लिए बाघ से लोगों की सरकार छीन ली। जो व्यक्ति यह सोचकर गर्व से भर गया था कि वह किसी प्रकार का बाघ है, मैंने उसे कुचल दिया है, उसकी पार्टी को अप्रासंगिक बना दिया है, यहां तक ​​कि पूर्व मुख्यमंत्री को विदेशों में भागना पड़ रहा है, मुझे डर है कि वह विदेश में चुनाव के लिए दौड़ सकते हैं। सिक्किम का सारा पैसा उन्होंने नेपाल के कसीनो, होटल और मॉल में लगा दिया। मुझे डर है कि वो वहीं बस जायेंगे। एक पुरस्कार समारोह के लिए पवन चामलिंग की हाल की नेपाल यात्रा की ओर इशारा करते हुए गोले ने कहा, "उनकी नजर देश की सुरक्षा को कम करने पर है।" एसकेएम अध्यक्ष ने जनता को आश्वासन दिया कि 2024 के विधानसभा चुनाव में एसकेएम सभी 32 सीटों पर जीत हासिल करेगी।

ये भी पढ़ेंः असम में चल रहा हिन्दू संगठन का प्रशिक्षण शिविर, छोटे हथियारों से लड़ना सीखा रहा

इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनका विकल्प मंत्रियों या उनके परिवार के मंत्रिमंडल से नहीं, बल्कि जनता से होगा। उन्होंने कहा, 'मेरा विकल्प जनता के बीच है, न मंत्रियों के मंत्रिमंडल में और न ही मेरे परिवार के किसी व्यक्ति में। मेरी पत्नी के विकल्प होने की अफवाहें थीं, लेकिन मेरा पूरा परिवार समाज सेवा के माध्यम से लोगों की सेवा करेगा, लेकिन अगला मुख्यमंत्री नहीं। मेरा कार्यकाल पूरा होने के बाद, मैं पार्टी का स्तंभ बनूंगा, राज्य की बेहतरी के लिए पार्टी का मार्गदर्शन करूंगा। जब मैं मिंटोकगांग (मुख्यमंत्री का सरकारी आवास) से निकलूंगा तो रोऊंगा नहीं, खुशी से जाऊंगा।