गंगटोक। सिक्किम मुख्यमंत्री पी एस तमांग ने सोमवार को देश के 76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हिमालयी राज्य में तिरंगा फहराया। हिमालयी राज्य के साथ-साथ देश के बाकी राज्यों में आज आजादी का अमृत महोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। दक्षिण सिक्किम में नामची जिले के बाईचुंग स्टेडियम में आयोजित एक कार्यक्रम में विशाल जनसभा को संबोंधित करते हुए तमांग ने भारत की आजादी के बाद की प्रगति और विकास पर प्रकाश डाला। 

ये भी पढ़ेंः त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक साहा ने चलाया वृक्षारोपण अभियान चलाया

मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वे देशभक्ति का प्रतीक हैं और हम उनके धीरज और निस्वार्थ बलिदान के आजीवन ऋणी हैं जिससे हमें अपनी स्वतंत्रता और गरिमा प्राप्त हुई हैं।' सिक्किम की प्रगति का उल्लेख करते हुए श्री तमांग ने कहा कि हिमालयी राज्य और यहां के लोगों ने विकास की अपार सफलता हासिल की है। उन्होंने जीवन स्तर में सुधार, बुनियादी संरचना का निर्माण और स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यटन, कृषि और डेयरी क्षेत्र में विकास कार्यों की प्रशंसा की। 

उन्होंने कहा, ''हमने बड़ी बाधाओं को पार करते हुए मील का पत्थर हासिल किया है। हमारा लक्ष्य राज्य को देश में एक उत्कृष्ट राज्य के रूप में स्थापित करना, मजबूत करना और नयी ऊंचाइयों तक ले जाना है।' तमांग ने नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को'बेटियों को बड़े सपने देखने की प्रेरणास्रोत बताया। उन्होंने कहा कि 2019 में सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा की सरकार के सत्ता में आने के बाद हमने ग्रामीण गरीबों के लिए 3050 घरों का निर्माण कराया है, जबकि शहरी गरीबों के लिए 502 घरों का निर्माण किया जा रहा है। 

ये भी पढ़ेंः खुशखबरीः सरकारी कॉलेजों में सभी छात्राओं को मुफ्त शिक्षा प्रदान करेगी इस राज्य की सरकार

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने पशुधन और किसानों की आय बढ़ाने पर बल दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खाद्य सुरक्षा के लिए जैविक खेती को बहु-मॉडल कृषि विरासत में तब्दील करने की कोशिश करने के साथ-साथ फसलवार और सुअर पालन, मुर्गी पालन और मत्स्य पालन के लिए प्रोत्साहन राशि प्रदान कर रही है।