राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू दो दिवसीय सिक्किम दौरे के बाद दिल्ली लौट गई। राष्ट्रपति मुर्मू के प्रस्थान से पहले बंद पकयोंग हवाई अड्डे का हवाई दौरा किया गया था। राष्ट्रपति मुर्मू ने राज्यपाल गंगा प्रसाद के साथ नामची सिद्धेश्वर धाम का दौरा किया। 

ये भी पढ़ेंः सिक्किम: तमांग ने आदिवासी दर्जे के मुद्दे पर मुर्मू से की हस्तक्षेप की मांग


मुख्यमंत्री पीएस तमांग, उनके कैबिनेट सहयोगियों और अधिकारियों ने राष्ट्रपति का स्वागत किया। सिद्धेश्वर धाम में पंडितों ने राष्ट्रपति और अन्य लोगों के लिए विशेष रुद्राभिषेक समारोह किया। नामची में राष्ट्रपति ने एक प्रदर्शनी का दौरा किया, जिसमें सिक्किमी शिल्प का प्रदर्शन किया गया। 

ये भी पढ़ेंः सिक्किम की समृद्ध विरासत विभिन्न समुदायों की संस्कृति का करती है प्रतिनिधित्व: मुर्मू


महिला एवं बाल विभाग, कौशल विकास विभाग और ग्रामीण विकास विभाग के तत्वावधान में स्वयं सहायता समूहों द्वारा लगाए गए स्टालों में हस्तशिल्प और प्रसंस्कृत भोजन और अचार का प्रदर्शन किया गया। राष्ट्रपति ने स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं और महिला उद्यमियों से बातचीत की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने यहां आने के लिए राष्ट्रपति का आभार व्यक्त किया।