पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम में राजनीतिक हिंसा जारी है इसी बीच सत्तारूढ़ दल सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (SKM) के एक नेता की एसयूवी (SUV) को जोरथांग में आग के हवाले कर दिया गया है। पुलिस के मुताबिक य घटना उस समय हुई जब एसकेएम के पार्टी कैलेंडर, पत्रिकाओं और डायरी से भरा वाहन जोरेथांग स्कूल के पास खड़ा किया गया था।

पुलिस ने बताया कि वाहन सालघरी-जूम निर्वाचन क्षेत्र के एसकेएम युवा संयोजक जॉन सुब्बा का था। इस घटना के पीछे विपक्षी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF) का हाथ होने का आरोप लगाते हुए एसकेएम ने बुधवार को कहा कि यह सिक्किम के लोगों पर हमला है। 

पुलिस के मुताबिक इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है और जांच की जा रही है। पूर्व मुख्यमंत्री और एसडीएफ प्रमुख पी के चामलिंग (Pawan Kumar chambling) के दिल्ली से तीन महीने बाद सिक्किम आने पर ऐसे मामले बढ़ गए हैं। वे 30 दिसंबर को दिल्ली से सिक्किम आए हैं।

बता दें कि रविवार को जब चामलिंग सदाम में एक अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जा रहे थे तब एसकेएम के समर्थकों ने उनके वाहनों को रोककर उन्हें कथित तौर पर अपशब्द कहा। उस दिन बाद में जब चामलिंग का काफिला तारे भीर में पहुंचा तब एसडीएफ और एसकेएम समर्थकों के बीच झड़प हुई थी। इस दौरान एसडीएफ और एसकेएम समर्थकों झड़प हुई थी जिसमें चार वाहन क्षतिग्रस्त हो गए थे और कई लोग भी घायल हुए थे। घटना के बाद दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर उस इलाके में हिंसा भड़काने का आरोप लगाया था।