मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में रविवार को डीजल का भाव 100 रुपये प्रति लीटर के पार निकल गया है। वाहन ईंधन कीमतों में रविवार को एक और वृद्धि के साथ सिक्किम में भी पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार हो गया है। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार पेट्रोल के दाम 35 पैसे प्रति लीटर और डीजल के भाव 18 पैसे प्रति लीटर और बढ़ाए गए हैं। पिछले करीब दो माह में पेट्रोल कीमतों में यह 34वीं और डीजल कीमतों में 33वीं बढ़ोतरी है। इससे देश में पेट्रोल और डीजल के दाम ऐतिहासिक उच्चस्तर पर पहुंच गए हैं।

राजधानी दिल्ली में पेट्रोल अपने सर्वकालिक उच्चस्तर 99.51 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। वहीं डीजल 89.36 रुपये प्रति लीटर पर है। मूल्य वर्धित कर (वैट) और ढुलाई भाड़े की वजह से विभिन्न राज्यों में ईंधन के दाम भिन्न-भिन्न होते हैं। इसी वजह से अब राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर, ओडिशा, तमिलनाडु, केरल, बिहार, पंजाब और लद्दाख में पेट्रोल का खुदरा दाम 100 रुपये प्रति लीटर के पार हो गया है।

सिक्किम इस सूची में रविवार को शामिल हो गया। राज्य की राजधानी गंगटोक में अब पेट्रोल 100.15 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। वहीं डीजल 91.55 रुपये प्रति लीटर है। मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद और पुणे जैसे महानगरों में पेट्रोल पहले ही 100 रुपये प्रति लीटर के पार हो चुका है। वहीं दिल्ली और कोलकाता में यह 99 रुपये प्रति लीटर से अधिक बिक रहा है। सबसे अधिक इस्तेमाल वाला ईंधन डीजल राजस्थान के श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ के अलावा ओडिशा के कुछ स्थानों पर 100 रुपये प्रति लीटर के पार हो चुका है। रविवार को मध्य प्रदेश के रीवा, शहडोल और बालाघाट में यह 100 रुपये प्रति लीटर के पार निकल गया।

चार मई से पेट्रोल के दाम 34 बार और डीजल के भाव 33 बार बढ़ाए गए हैं। इस दौरान पेट्रोल 9.11 रुपये प्रति लीटर और डीजल 8.63 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है। ओपेक (OPEC) देशों की वियना में बैठक हुई थी। इसमें आगामी अगस्त से दिसंबर के दौरान कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने पर फैसला होना था। लेकिन 11 घंटे तक चली बैठक के बाद भी कोई फैसला नहीं हो पाया। इससे कच्चे तेल के बाजार में निराशाजनक स्थिति बनी। शुक्रवार को बाजार बंद होते समय ब्रेंट क्रूड 76.17 डॉलर प्रति बैरल पर सेटल हुआ जो कि एक दिन पहले के मुकाबले 0.33 डॉलर ज्यादा है।