सिक्किम से लापता हुई दो नाबालिग लड़की को हरियाणा के अंबाला से बरामद किया गया है। साथ ही मानव तस्कर गिरोह के दो सदस्यों की भी गिरफ्तारी हुई है। हरियाणा और सिक्किम पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर यह सफलता हासिल किया है। मंगलवार को अदालत की प्रक्रिया पूरी कर सिक्किम पुलिस बरामद लकड़ी और आरोपियों को लेकर सिक्किम के लिए रवाना होगी।

सिलीगुड़ी में इसकी जानकारी देते हुए मानव तस्करी रोकने की दिशा में सक्रिय एक गैर सरकारी संगठन डुवार्स मेल एक्सप्रेस के एक पदाधिकारी ने बताया कि बीते 14 अगस्त को पड़ोसी राज्य सिक्किम के पूर्व जिला (ईस्ट सिक्किम) से के देवराली बाजार इलाके से दो नाबालिग लड़की लापता हो गई थी। दोनों नाबालिग लकड़ी अलग-अलग परिवार की हैं। 

काफी ढूंढ़ने के बाद भी नहीं मिलने पर अगले दिन 15 अगस्त को परिवार वालों ने ईस्ट सिक्किम के सदर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। दोनों परिवार मूल रुप से बिहार के निवासी हैं। दोनों परिवार रोजी-रोजगार के सिलसिले में लंबे अरसे से सिक्किम में रहते हैं। सिक्किम पुलिस ने दोनों नाबालिग लड़की को बरामद करने के लिए डुआर्स एक्सप्रेस मेल वेलफेयर सोसायटी से लड़कियों की जानकारी साझा की। 

लड़कियों को हरियाणा ले जाने का संकेत मिलते ही सिक्किम पुलिस ने हरियाणा पुलिस से संपर्क साधा और वहां पहुंची। गुप्तचरों की जानकारी के आधार पर हरियाणा और सिक्किम पुलिस की टीम ने अंबाला इलाके में अभियान चलाकर दोनों लड़कियों को बरामद किया। साथ ही मानव तस्कर गिरोह के दो सदस्यों को भी गिरफ्तार किया। 

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों तस्कर हरियाणा से निजी गाड़ी लेकर सिलीगुड़ी होते हुए सिक्किम पहुंचे थे और दोनों लड़कियों को अपहरण कर हरियाणा ले गए थे। सूत्रों को कहना है कि लोग जब हरियाणा से यहां आए थे तो सिलीगुड़ी होते हुए आए हैं। यहां कहीं ना कहीं रूके होंगे। उसके बाद ही अपहरण के इरादे से सिक्किम गए होंगे। सिलीगुड़ी में ही इनके कनेक्शन को खंगाला जाएगा।