भारी बारिश की वजह से इन दिनों देश के अलग-अलग हिस्सों से भूस्खलन की खबरें आ रही हैं। पश्चिम बंगाल में हो रही बारिश की वजह से मंगलवार को राज्य को सिक्किम से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-10 पर भूस्खलन की घटना सामने आई है। इसकी वजह से उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में सड़क संपर्क पूरी तरह से टूट गया। इसके साथ ही इस राजमार्ग पर यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ है। लोग घंटों परेशान रहे। 

राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच-10) सिक्किम की राजधानी गंगटोक को पश्चिम बंगाल के कलिम्पोंग और सिलीगुड़ी से जोड़ता है। इस सप्ताह के दौरान भारी बारिश के चलते कलिम्पोंग के पास 29-मील के करीब ये भूस्खलन हुआ। पूर्वी हिमालय की तलहटी में भारी बारिश के कारण भूस्खलन हुआ।

सूत्रों के अनुसार स्थानीय प्रशासन वर्तमान में क्लियरिंग ऑपरेशन करने में व्यस्त है लेकिन पहाड़ी इलाकों से मलबा हटाने की प्रगति धीमी है क्योंकि मानसून की सक्रियता की वजह से अभी भूस्खलन हो रहा है। इस बीच, मौसम विभाग के अधिकारियों ने 9 जुलाई से 12 जुलाई के बीच पश्चिम बंगाल के तीन जिलों - दार्जिलिंग, अलीपुरद्वार और कूचबिहार में भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की है, जो उत्तर बंगाल के बड़े इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा कर सकती है। माैसम विभाग की इस भविष्यवाणी के बाद यहां का प्रशसन अलर्ट हो गया है।