सिक्किम (Sikkim) के बिकल राय (Bikal Rai) नाम के एक स्व-निर्मित इंजीनियर (self-made engineer) की प्रेरक कहानी सिक्किम के सरकारी स्कूल की कक्षा 5 की पुस्तक में प्रकाशित होती है। उनकी कहानी आने वाली पीढ़ियों को उनके कौशल और ज्ञान के विकास के लिए प्रेरित करने की आशा के साथ प्रकाशित हुई है।

बिकल राय (Bikal Rai) की कहानी एक बहुत ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है, जिसने अपने पिता की मृत्यु के बाद अपने जीवन में बहुत सारी समस्याओं का सामना किया था। राय पूर्वी सिक्किम (Sikkim) के इलाके में 32 मील पर रहते थे। उन्होंने 15 साल की उम्र में अपने पिता को खो दिया और फिर एक वित्तीय संकट के कारण संघर्ष किया जिसके कारण उन्हें अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ी।
वह अपने परिवार की देखभाल करने के लिए घर पर ही रहता था, लेकिन अपने पड़ोसियों के पास इलेक्ट्रॉनिक सामान की मरम्मत करके पैसे कमाकर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण (electronic items) बनाने में भी लगा रहता था। राय की कहानी इससे पहले वर्ष 2013 में सिक्किम मैसेंजर द्वारा प्रकाशित की गई थी जब वह अपने जीवन से संघर्ष कर रहे थे और इस प्रकाशन ने उनके जीवन में बड़े बदलाव लाए। वह उन उपकरणों के साथ आए जिनकी आमतौर पर उनकी उम्र के लड़के से अपेक्षा नहीं की जाती है।
उनके नवाचार में शामिल हैं:

• एक बार में 4 मोबाइल फोन चार्ज करने की क्षमता के साथ 2.3-वोल्ट ऊर्जा का उत्पादन करने वाला हाइड्रो पावर जनरेटर (Hydro Power generator) और 3 बल्बों की रोशनी के लिए उपयोग कर सकता है