नई दिल्ली/गंगटोक। पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर चल रहे गतिरोध के बीच भारतीय सेना अब सिक्किम में भी हाई अलर्ट पर है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इसी महीने 22 और 23 तारीख को चीनी सेना के वेस्टर्न थिएटर कमांडर ने सिक्किम के दूसरी तरफ एलएसी (Line Of Actual Control) के पास विजिट किया। जिसके बाद से चीनी सेना की गतिविधियां तेज हुई हैं। इसी वजह से भारतीय सेना भी इलाके में पूरी तरह अलर्ट है।

यह भी पढ़े : Numerology Horoscope 27 April : इन तारीखों में जन्मे लोगों के लिए 27 अप्रैल को बन रहे है खास योग, मिलेगा भरपूर लाभ

बता दें कि चीनी सेना के वेस्टर्न कमांड का मुख्यालय तिब्बत में है। चीनी सेना की यही कमांड भारत से लेकर पूरे लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल को देखती है। सूत्रों के मुताबिक चीनी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (Chinese Army) के वेस्टर्न थिएटर कमांडर वांग हैजियांग के दो दिन के विजिट के बाद इलाके में हलचल बढ़ी है। गौरतलब है कि जब ईस्टर्न लद्दाख में तनाव शुरू हुआ था लगभग उसी वक्त भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच फेसऑफ की एक घटना सिक्किम में भी हुई थी। तब चीनी सैनिक एलएसी पार कर भारत के इलाके में आए, जिसके बाद भारतीय सैनिकों ने उन्हें खदेड़ा था।

यह भी पढ़े : Akshaya Tritiya 2022: इस दिन सोना खरीदना बेहद शुभ होता है, इन 3 चीजों के दान से चमक सकती है किस्मत, जानिए शुभ मुहूर्त

ईस्टर्न लद्दाख में पैंगोग झील के उत्तरी और दक्षिणी किनारे सहित गोगरा, गलवान में गतिरोध तो दूर हुआ लेकिन वहां फिलहाल न तो चीन और न भारत के सैनिक गश्ती कर पा रहे हैं। अभी भी पेट्रोलिंग पॉइंट 15 के साथ ही डेपसांग और डेमचॉक एरिया में विवाद बना हुआ है और यहां गतिरोध दूर करने को लेकर बातचीत जारी है। भारतीय सेना के एक अधिकारी के मुताबिक हम पूरे एलएसी पर अलर्ट हैं और अगर कहीं से भी कोई गलत हरकत होती है तो हम उसका जवाब देने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सेना के कमांडर्स भी विजिट करते हैं और चीनी सेना अगर अपने इलाके में कुछ करती है तो हमें इससे दिक्कत नहीं है। लेकिन हम एलएसी के पास हो रही हर हरकत पर बारीक नजर रखे हुए हैं।