गंगटोक। सिक्किम में जारी अनवरत बारिश के कारण पश्चिम सिक्किम के विभिन्न स्थानों पर जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। गेजिंग जिला अंतर्गत सात माइल स्थित रानी वन में भूस्खलन के कारण मंगलवार की सुबह से सड़क पर आवागमन बाधित हो गया। कड़ी मशक्कत के बाद सड़क पर आवागमन सामान्य हो पाया है। दूसरी ओर बारिश के कारण जिला के ग्रामीण क्षेत्र में अधिक प्रभावित हो गए हैं। मूसलधार बारिश की वजह से गेजिंग बर्मेक के बर्थाग ग्राम पंचायत निवासी नरपति शर्मा का घर क्षतिग्रस्त हो गया है। इनके घर को एक सितंबर को हुई बारिश की वजह से काफी क्षति पहुंची थी। कच्चा घर होने के कारण उनके रसोई से लेकर मुख्य मकान को भी क्षति पहुंची है। इनके परिवार को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है।

यह भी पढ़ें- कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न से संबंधित शिकायतों के लिए समिति गठित

इसी तरह गेजिंग निवासी अमित कुमार सुवेदी की गाय भूस्खलन की चपेट में आकर घायल हो गई है। इसके साथ ही पश्चिम सिक्किम के ग्रामीण क्षेत्रों को मुख्य सड़क के साथ जोड़ने वाली सड़कों को व्यापक क्षति हुई है। गेजिंग जिले के प्रमुख बाजार से लिंगचोम और लागगाग गांव को जोड़ने वाली सड़क तिकजेक में अवरुद्ध हो गई है। जिस कारण वाहनों का संचालन अवरुद्ध है। यहा के लिए निर्मित वैकल्पिक मार्ग भी अवरुद्ध होने के कारण मंगलवार की सुबह से वाहनों का आवागमन ठप है। गेजिंग के संचमान लिंबू डिग्री कालेज जाने वाली सड़क की भी दशा चिंताजनक बतायी जा रही है। जानकारी मिली है कि वहा की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित सड़क विभिन्न स्थानों पर क्षतिग्रस्त हो चुकी है। इस सड़क के क्षतिग्रस्त होने से आरिगाव, चोंगजोंग और सल्ले गांव के ग्रामीणों को आवागमन में दिक्कत हो रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों पर पानी बहता नजर आता है। 

यह भी पढ़ें- केंद्र सरकार ने NSCN(K) निकी समूह के साथ संघर्ष विराम बढ़ाया

सड़क सुचारू करने के लिए आरिगांव ग्राम पंचायत सदस्य बुलडोजर की मदद से काम करा रहे हैं। ग्रामीण इसके लिए सड़क की नाली पर सुधार और बारिश की पानी की उचित निकासी की मांग कर रहे है। इसके अतिरिक्त गेजिंग जिला को राज्य के अन्य जिला लगायत पश्चिम बंगाल को जोड़ने वाली सड़क मार्ग विभिन्न स्थानों पर अवरुद्ध रहा। शाम को ज्यादातर सड़क खुले हुए थे। लेकिन ग्रामीण सड़कों की स्थिति में कोई सुधार नहीं पाया गया। समाचार प्रेषण तक कहीं से किसी भी तरह की कोई जनहानि की सूचना नहीं है। दूसरी ओर राष्ट्रीय राजमार्ग कहीं भी अवरुद्ध होने की जानकारी नहीं है।