बोर्ड ऑफ ओपन स्कूलिंग एंड स्किल एजुकेशन सिक्किम, गंगटोक (Board of Open Schooling and Skill Education Sikkim, Gangtok) ने अपने प्रचार के लिए प्रदेश में ही स्टडी सेंटर खोल डाले। इतना ही नहीं इन सेंटरों पर धड़ल्ले से नकल का खेल चल रहा है। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड अधिकारियों के संज्ञान में आने के बाद अब बोर्ड ने सिक्किम, गंगटोक बोर्ड की समकक्ष मान्यता रद्द कर दी है।

शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न शिक्षा बोर्ड की ओर से ओपन सेंटर खोले जाते है, मगर प्रदेश से बाहर स्टडी सेंटर खोलने को लेकर असमंजस की स्थिति है। अब बोर्ड ऑफ ओपन स्कूलिंग एंड स्किल एजुकेशन सिक्किम, गंगटोक ने अन्य राज्यों के साथ-साथ प्रदेश में भी स्टडी सेंटर खोल डाले।

दूसरे राज्यों में बोर्ड प्रतिनिधियों का निरीक्षण के लिए जाना काफी मुश्किल रहता है, ऐसे में इन स्टडी सेंटरों में धड़ल्ले से नकल का खेल चल रहा है। कुछ सेंटर तो पास ही नहीं, अच्छे अंकों की भी गारंटी ले रहे है। ऐसे चार सेंटर हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड अधिकारियों के संज्ञान में आए। जिसके बाद नकल के इस खेल से दूर रहने के लिए बोर्ड अधिकारियों ने मंथन कर सिक्किम, गंगटोक बोर्ड की समकक्ष मान्यता ही रद्द कर दी।

दूसरे राज्यों के एजुकेशन बोर्ड से अच्छे नंबरों से 10वीं व 12वीं पास कराने का खेल खूब चल रहा है। करीब सात-आठ साल पहले इनके खुलासे के बाद ओपन स्टडी सेंटर बंद करवाए गए थे। मगर अब फिर से ये खेल शुरू हो गया है। इन ओपन स्टडी सेंटरों पर पास करवाने और अच्छे नंबरों की गारंटी तक ली जा रही है। इसके बदले विद्यार्थियों से रुपये ऐंठे जाते है।