स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगाठ पर सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग (गोले) ने सोमवार को महिलाओं को तोहफा दिया है। तमांग ने 'अम्मा योजना' के तहत बेरोजगार माताओं को 20 हजार रुपये हर साल देने की एलान किया। साथ ही 'वात्सल्य योजना' में नि: संतान महिलाओं को आईवीएफ (IVF) इलाज के लिए तीन लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने को कहा है। बता दें कि नामची के भाईचुंग स्टेडियम पहुंचे सीएम तमांग में तिरंगा फहराने के बाद इसकी घोषणा की।

ये भी पढ़ेंः मोदी को एक और झटका देने की तैयारी में नीतीश, पशुपति पारस की पार्टी टूटने के कगार पर ?

प्रेम सिंह तमांग ने कहा कि सिक्किम सरकार महिलाओं के कल्याण के लिए लगातार काम कर रही है। साथ ही उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि हमारी सरकार सिक्किम में महिलाओं के कल्याण के लिए सरकार निरंतर काम कर रही है। उनके सम्मान में अधिकारिक तौर पर 'अम्मा योजना' और 'वात्सल्य योजना' शुरू कर रहे हैं।' 

ये भी पढ़ेंः Bihar Cabinet Expansion : नीतीश कैबिनेट का आज होगा विस्तार, राजद कोटे से बन सकते हैं 16 मंत्री, देखिए लिस्ट

सिक्किम सरकार ने 'अम्मा योजना' की घोषणा मार्च 2022 में की थी। सीएम तमांग ने इस दौरान कहा था कि गैर कामकाजी महिलाओं के लिए इसकी शुरू किया है। बता दें कि इसके साथ ही  उन्होंने 'बहिनी योजना' करने का भी एलान किया था, जिसके तहत सेकेंड्री और सीनियर सेकेंड्री स्कूलों में पढ़ने वाली छात्राओं को फ्री में सेनेटरी पैड मुहैया कराने को कहा था। मार्च 2022 में अम्मा योजना की शुरुआत करते हुए सीएम पी एस तमांग ने कहा था कि पैसे सीधे महिआओं के बैंक खाते में भेजे जाएंगे। इसकी शर्त यह है कि आपका नाम वोटर लिस्ट में होना चाहिए है।