केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने असम, मेघालय, सिक्किम और नगालैंड की राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजनाओं की समीक्षा की। असम के मुख्‍यमंत्री हि‍मन्‍ता बिस्‍व सरमा, केन्‍द्रीय मंत्री जनरल वी के सिंह, मंत्रालय और चार राज्‍यों के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने बैठक में भाग लिया। बैठक के दौरान भूमि अधिग्रहण, जारी परियोजनाओं की प्रगति, नवीन प्रौद्योगिकियों का उपयोग, विवाद और मध्‍यस्‍थता तथा संभव वित्‍तीय उपायों पर चर्चा की गई। 

यह भी पढ़ें- हथेली पर ये रेखाएं बनाती हैं इंसान को करोड़पति, ऐसे करें तुरंत पहचान

गडकरी ने चार राज्‍यों में परियोजनाओं में हुई देरी की समीक्षा भी की। उन्‍होंने अधिकारियों को परियोजनाएं शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिये और पूर्वोत्‍तर राज्‍यों में उच्‍चस्‍तरीय परिवहन अवसंरचना विकसित करने के लिए केन्‍द्र और राज्‍य की एजेंसियों के बीच समन्‍वय तथा भागीदारी पर जोर दिया। 

यह भी पढ़ें- असम सरकार ने मदरसों को अपने शिक्षकों का ब्योरा देने को कहा


पूर्वोत्‍तर की राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की समीक्षा के बाद केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि असम के लिए पचास हजार करोड रूपये, मेघालय के लिए नौ हजार करोड़ रुपये, नगालैंड के लिए पांच हजार करोड़ रुपये और सिक्किम के लिए चार हजार करोड़ रुपये की नई परियोजनाएं स्‍वीकृत की गई हैं। उन्‍होंने कहा कि असम में दो साल के भीतर सड़कों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के अनुरूप विकसित किया जाएगा। गडकरी ने असम के मुख्यमंत्री को राज्य में सडक अवसंरचना के लिए भूमि अधिग्रहण प्रक्रिया के त्‍वरित प्रयासों के लिए धन्‍यवाद दिया।