भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान और प्रसिद्ध फुटबॉलर बाईचुंग भूटिया ने फीफा द्वारा अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के निलंबन पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। निलंबन को फीफा द्वारा लिया गया दुर्भाग्यपूर्ण और कठिन निर्णय बताते हुए भूटिया ने कहा कि यह भारतीय फुटबॉल के लिए व्यवस्था को ठीक करने और इसे सुधारने की दिशा में काम करने का एक अवसर है।

ये भी पढ़ेंः भारत में झमाझम बारिश, वहीं आसमानी आग से जल रहा है पड़ोसी देश चीन, जानें पूरा मामला


उन्होंने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि फीफा ने भारतीय फुटबॉल पर प्रतिबंध लगा दिया। साथ ही मुझे लगता है कि यह हमारे सिस्टम को ठीक करने का एक शानदार अवसर है। साथ ही बहुत महत्वपूर्ण है कि सभी हितधारक महासंघ, राज्य संघ और खेल मंत्रालय एक साथ आएं व्यवस्था को ठीक करें और हर कोई भारतीय फुटबॉल की बेहतरी के लिए काम करे।

ये भी पढ़ेंः 'हर घर तिरंगा' अभियान, 6 करोड़ से अधिक तिरंगा सेल्फी अपलोड हुए : केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय

फीफा द्वारा एआईएफएफ के निलंबन पर सिक्किम फुटबॉल संघ (एसएफए) की राय पर एक सवाल के जवाब में भूटिया ने कहा कि मामला विचाराधीन है लेकिन यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। बता दें कि फीफा शीर्ष फुटबॉल निकाय ने मंगलवार को अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के अपने निर्णय की घोषणा की और फीफा परिषद के ब्यूरो द्वारा सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। निर्णय तीसरे पक्ष के अनुचित प्रभाव के कारण लिया गया है, जो फीफा क़ानून का गंभीर उल्लंघन है।