कोरोना (Corona) के अलग-अलग वेरिएंट (variant) से दहशत में बैठी पूरी दुनिया अब एक नए खतरे का सामना कर रही है। दक्षिण अफ्रीका में पाए गए कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron variant) ने सभी को चिंता में डाल दिया है। इसे अब तक का सबसे ताकतवर वेरिएंट माना जा रहा है। इसी वजह से भारत में भी इस नए वेरिएंट से निपटने की तैयारी शुरू की जा चुकी है। अब इसी कड़ी में सिक्किम (sikkim) में विदेशी नागरिकों पर बैन लगा दिया गया है।

जानकारी दी गई है कि 15 दिसंबर तक सिक्किम में विदेशी नागरिकों को एंट्री नहीं दी जाएगी। ये फैसला ओमिक्रॉन खतरे की वजह से ही लिया गया है। कहा गया है कि 15 दिसंबर, 2021 तक सिक्किम जाने वाले विदेशी नागरिकों के लिए इनर लाइन परमिट/आरएपी/पीएपी पास को रद्द कर दिया है। ऐसे में वे सैर-सपाटा या फिर घूमने के लिए यहां नहीं आ पाएंगे। अब ये कड़ा रुख अपनाने वाला सिक्किम पहला राज्य बन गया है। दूसरे राज्य भी सख्ती दिखा रहे हैं लेकिन किसी ने भी विदेशी नागरिकों पर यूं बैन नहीं लगाया है। लेकिन सिक्किम ने अब ये फैसला लेकर ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ एक नई जंग शुरू कर दी है।

वैसे ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर केंद्र की तरफ से भी नई ट्रैवल एडवाइजरी (new travel advisory) जारी कर दी गई है। नई एडवाइजरी के मुताबिक जो भी यात्री एट रिस्क वाले देशों से भारत आएंगे, उनका कोविड टेस्ट करवाया जाएगा। अगर वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं, फिर भी टेस्ट अनिवार्य रहेगा। वहीं अगर कोई यात्री कोविड पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे आइसोलेट करने की तैयारी होगी और उसके सैंपल को जीनोम सीक्वेंस के लिए भेज दिया जाएगा। वहीं जितने भी यात्री होंगे, सभी को सीमित समय के लिए होम क्वारंटीन भी रहना पड़ेगा। ऐसे में केंद्र ने अपने स्तर पर कुछ फैसले ले लिए हैं। लेकिन महाराष्ट्र और दिल्ली सरकार अफ्रीकी देशों से आने वाली फ्लाइटों पर ही बैन चाहती हैं। अभी तक केंद्र ने इस पर कोई फैसला नहीं लिया है।