टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने शुक्रवार को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) में पूर्वोत्तर और प्लेट-ग्रुप के युवा क्रिकेटर्स के साथ बातचीत की। बता दें कि द्रविड़ भारत के अंडर-19 कोच और फिर एनसीए प्रमुख के तौर पर कई सालों तक खिलाड़ियों को निखारने का काम कर चुके हैं। क्रिकेटर्स का ये प्रशिक्षण शिविर 18 अप्रैल को शुरू हुआ था और यह 12 मई तक चलेगा।

यह भी पढ़े : Shani Gochar : 30 साल बाद कुंभ राशि आए शनि देव, धनु राशि वालों को साढ़े साती से छुटकारा, जानिए सभी राशियों पर प्रभाव

बीसीसीआई के एक सूत्र के अनुसार खिलाड़ियों के लिए यह यादगार बातचीत थी। सत्र लगभग 45 मिनट तक चला। इस दौरान एनसीए निदेशक और लंब समय तक भारतीय टीम में द्रविड़ के साथी वीवीएस लक्ष्मण भी मौजूद थे।' लक्ष्मण ने ट्वीट किया, 'मेरे अच्छे दोस्त और टीम इंडिया के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को बहुत-बहुत धन्यवाद, जिन्होंने बेंगलुरू में एनसीए शिविर में भाग लेने वाले नॉर्थ ईस्ट और प्लेट ग्रुप के खिलाड़ियों से बात करने के लिए समय निकाला। मुझे यकीन है कि लड़कों ने इस मौके का फायदा उठाया होगा। राहुल के दिमाग में झांको।'

बीसीसीआई के इस शिविर का आयोजन का मकसद मिजोरम, मणिपुर, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम के खिलाड़ियों को अन्य घरेलू टीमों के बराबर सर्वश्रेष्ठ कोचिंग और बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराना है। आईपीएल के चलते द्रविड़ फिलहाल 29 मई तक राष्ट्रीय ड्यूटी पर नहीं हैं। राहुल द्रविड़ के पिछले साल टीम इंडिया का कोच बनने के बाद एनसीए निदेशक का पद खाली हो गया था। इसके बाद बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने काफी मान मनौव्वल के बाद वीवीएस लक्ष्मण को यह जिम्मेदारी सौंपी थी। एनसीए निदेशक बनने के बाद लक्ष्मण को सनराइजर्स हैदराबाद टीम के मेंटर का पद छोड़ना पड़ा था।

यह भी पढ़े : इस राज्य में भाजपा गठबंधन की लगी लॉटरी, नागा पीपुल्स फ्रंट के 21 विधायकों का NDPP में विलय

वैसे भी क्रिकेट के मैदान पर राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण की जोड़ी सुपरहिट साबित हुई। दोनों खिलाड़ियों ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फॉलोऑन खेलते हुए कोलकाता टेस्ट में 376 रनों की अविश्वसनीय साझेदारी की थी। उस पारी में लक्ष्मण ने 281 और द्रविड़ ने 180 रनों का योगदान दिया था। इन दोनों के पारियों की बदौलत भारत ने पलटवार करते हुए कंगारूओं को 171 रनों से करारी शिकस्त दी थी।