गुजरात के आणंद में स्थित नेशनल कोआपरेटिव डेयरी फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, सहकारी डेयरी क्षेत्र के लिए शीर्ष संगठन है। यह वर्तमान में मल्टी-द स्टेट्स कोऑपरेटिव सोसाइटी एक्ट द्वारा शासित है। इसके सदस्यों में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के संघीय डेयरी सहकारी समितिया शामिल हैं। एनसीडीएफआई ने हमारे देश के किसानों की सेवा के 50 साल पूरे कर लिए हैं। इसमें सिक्किम को-ऑपरेटिव मिल्क प्रोड्यूसर्स यूनियन लिमिटेड एनसीडीएफआई के सदस्यों में से एक है। एनसीडीएफआई का स्वर्ण जयंती समारोह 10 अप्रैल आणंद गुजरात में मनाया गया था। 

यह भी पढ़ें : अरूणाचल प्रदेश ने सबको चौंकाया, पेट्रोल और डीजल पर सिर्फ इतना सा टैक्स लेती है सरकार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कार्यक्रम में एनसीडीएफआई स्वर्ण जयंती समारोह में विजेताओं को भारतीय राष्ट्रीय सहकारी डेयरी संघ ई-मार्केट पुरस्कार वितरित किए। सिक्किम को-आपरेटिव मिल्क प्रोड्यूसर्स यूनियन लिमिटेड को एनसीडीएफआई द्वारा एनसीडीएफआई ई-मार्केटिंग में अपने प्रदर्शन और सिक्किम और पश्चिम बंगाल में सेना के लिए दूध की आपूर्ति में दिखाए गए प्रदर्शन के लिए ई-मार्केट राष्ट्रीय पुरस्कारों में से एक से सम्मानित किया गया था। 

अतिरिक्त महाप्रबंधक, केडी बरफुंगपा ने केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री के हाथों सिक्किम सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड की ओर से पुरस्कार प्राप्त किया। कार्यक्रम में अमित शाह, द्वारा डॉ. पी. सेंथिल कुमार, सचिव, एएचवीएस-सह-प्रबंध निदेशक, सिक्किम को-ऑपरेटिव मिल्क प्रोड्यूसर्स यूनियन लिमिटेड को सौंपा गया।

यह भी पढ़ें : सिक्किम में प्रतिकूल परिस्थितियों से बचने के लिए काम शुरू, नामची DC ने बुलाई मानसून की तैयारी की बैठक

आणद में स्वर्ण जयंती कार्यक्रम में एल वर्मा, सहकारिता राज्य मंत्री, भारत सरकार, जगदीश पाचाल, सहकारिता विभाग, गुजरात सरकार, सतीश मराठे, निदेशक, भारतीय रिजर्व बैंक, मीनेश शाह, अध्यक्ष, एनडीडीबी, मंगल जीत राय, अध्यक्ष एनसीडीएफआई, (जो सिक्किम को-आपरेटिव मिल्क प्रोड्यूसर्स यूनियन लिमिटेड के उपाध्यक्ष) और के सी सुपेकर, प्रबंध निदेशक, एनसीडीएफआई और विभिन्न राज्य दुग्ध संघों और संघों के अधिकारी आदि विशिष्टजन मौजूद थे।