सिक्किम सरकार ने एक तरफ आरोग्य सेतु ऐप को प्रत्येक नागरिक के लिए अनिवार्य कर दिया है वहीं दूसरी तरफ पश्चिमी सिक्किम में एक वीडियो वायरल होने से सनसनी फैलने के साथ ही भ्रम की स्थति पैदा हो गयी। 

जिला प्रशासन के अधिकारियों ने हालांकि एक स्पष्टीकरण के जरिए लोगों को वस्तुस्थिति की जानकारी दी है। जिलाधिकारी राज यादव ने आरोग्य सेतु के स्क्रीन पर संदेश की जांच के बाद नयी दिल्ली के इंडियन कौंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च को इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा, हमारे कार्यालय ने राष्ट्रीय सूचना केंद्र ,नयी दिल्ली में आरोग्य सेतु टीम से चर्चा की है। दूसरे राज्य में संक्रमित व्यक्ति का मोबाइल नंबर गलती से प्रदर्शित हो गया। 

उन्होंने बताया कि नामली फार्मा सेंटर(पूर्वी सिक्किम) को इसका पता लगा तथा स्पष्टतया यह नंबर गलत तरीके से पंजीकृत किया गया और सिक्किम के लोगों को घबराने की आवश्यकता नहीं है। सिक्किम सरकार ने सभी सार्वजनिक और सरकारी कार्यालयों के कर्मचारियों के लिए अपने स्मार्ट फोन में आरोग्य सेतु ऐप अनिवार्य कर दिया है। आवश्यक वस्तु और दवाएं लेकर आने वाले ट्रक चालकों को भी इसके दायरे में रखा गया है। सरकार ने छात्रों, मरीजों समेत राज्य से बाहर फंसे लोगों को भी ऑनलाइन पंजीकरण से पहले यह ऐप डाउनलोड करने की सलाह दी है।