आज मुख्यमंत्री श्री प्रेम सिंह तमांग (Prem Singh Tamang) की अध्यक्षता में सम्मान भवन में सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (SSDMA) की बैठक हुई। 2016 के SSDMA की कार्रवाई रिपोर्ट पर संक्षेप में चर्चा की गई जिसके बाद आगे के रोड-मैप पर SSDMA की गतिविधियों पर प्रस्तुति दी गई। इसी प्रकार राष्ट्रीय आपदा राहत कोष/राज्य आपदा राहत कोष निदेशक एसएसडीएमए द्वारा प्रस्तुत किया गया।
सदस्यों ने मुख्यमंत्री को संशोधित राज्य आपदा प्रबंधन योजना (SDMP) से अवगत कराया और SDMF के तहत परियोजना की निगरानी और पर्यवेक्षण के लिए समिति गठित करने का प्रस्ताव भी रखा।

कई चल रहे कार्यक्रमों, परियोजनाओं और योजनाओं पर भी चर्चा की गई जिनमें शामिल हैं:-

1. चांदमारी में भूस्खलन पूर्व चेतावनी प्रणाली
2. आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रणाली का विस्तार
3. राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (NDC) कार्यान्वयन के लिए परिवर्तनकारी परियोजना पाइपलाइन
4. सामान्य चेतावनी प्रोटोकॉल (CAP) परियोजना
5. राष्ट्रीय आपदा सूचना प्रबंधन प्रणाली (NDMIS)
मुख्यमंत्री ने कुछ बिंदुओं का सुझाव भी दिया और सिफारिश की कि सदस्य उन पर विचार करें। उन्होंने आपदा हॉटस्पॉट की पहचान करने और उन्हें कम करने पर विचार-विमर्श करने के महत्व पर भी जोर दिया।

बैठक को मंत्री श्री कुंगा नीमा लेप्चा (Kunga Nima Lepcha) ने भी संबोधित किया, जिन्होंने राज्य के भीतर आपदाओं को कम करने और निगरानी में SSDMA के महत्व के बारे में बताया और नियमित आधार पर बैठक आयोजित करने पर जोर दिया।