रंगपो शहर को तेजी से विकसित करने के उद्देश्य से शनिवार को मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामाग (गोले) शनिवार को रंगपो शहर पहुंचे। उन्होंने रंगपो पहुंचते ही रंगपो नगर पंचायत के पाच वार्डो का निरीक्षण करते हुए वहा की समस्याओं की जानकारी ली। जिसमें मुख्य रूप से यहा ड्रेनेज, पीने का पानी, सड़क मार्ग, सीवरेज, रंगपो अस्पताल आदि में व्याप्त समस्याओं की जानकारी ली।

रंगपो शहर में नगर पंचायत के चार वार्ड हैं, जहा मुख्यमंत्री ने भ्रमण किया। चारों वार्डो से जनता की समस्याएं सुनने के बाद मुख्यमंत्री गोले ने यहा के पर्यटन विभाग के अतिथि गृह में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि रंगपो शहर में विभिन्न पूर्वाधारों की कमी है, जो इस भ्रमण के बाद महसूस किया गया है। विशेष कर रंगपो शहर में सड़क की स्थिति दयनीय है, सड़कों की स्थिति सुधारी जाएगी तथा भविष्य में रंगपो शहर को सभी सुविधाओं से युक्त किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहा पीने की पानी की असुविधा है, जिसे समाधान करने के लिए समय लगेगा। पानी की समस्या का 6 माह में अस्थायी रूप से समाधान किया जाएगा और स्थायी समाधान के लिए आगे काम किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पताल को विकसित कर वहां स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। रंगपो की विकास के संदर्भ में उन्होंने पूर्व सरकार पर हमला करते हुए कहा कि पूर्व सरकार ने रंगपो के विकास की दिशा में कुछ नहीं किया। रंगपो में कार पाìकग की बढी समस्या है। आगमी दिन में इसे भी निवारण किया जाएगा।

मुख्यमंत्री गोले ने पूर्व मुख्यमंत्री पवन चामलिंग के बयानों की निंदा की। पूर्व मुख्यमंत्री ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्य सरकार द्वारा टिस्टा ऊर्जा के शेयर निजी कंपनी को बेचने का आरोप लगाया था। उसके जवाब में मुख्यमंत्री गोले ने कहा कि टिस्टा ऊर्जा में राज्य सरकार का 60.08 प्रतिशत शेयर है, वो नहीं बेचा गया है, यह बेबुनियाद आरोप है। यदि किसी भी निजी कंपनी को शेयर बेंचा गया है तो उसकी जानकारी हमें नहीं है। जब उनसे रेल मार्ग पर खनन से क्षतिग्रस्त हुए घरों के संबंध में बात की गई तो उन्होने कहा कि रेलवे के कारण हुई समस्या की सरकार को नहीं है जब उसकी जानकारी सरकार को मिलेगी तो जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

मुख्यमंत्री गोले ने कहा कि रंगपो बाजार के सामने पुल बनने से किसी को कोई समस्या नहीं होगी। उन्होंने कहा कि नए पुल से केवल मालवाहक वाहन ही चलेंगे और छोटी गाड़िया रंगपो बाजार से ही चलेंगी। मुख्यमंत्री के समक्ष जो जनसमस्याएं पेश की गईं उन्होंने उक्त सभी समस्याओं का जल्द से जल्द निवारण करने का निर्देश दिया। इस अवसर पर सिक्किम विधानसभा अध्यक्ष तथा क्षेत्र विधायक एलबी दास, मंत्री अरुण उप्रेती, मंत्री संजित खरेल, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव जैकब खालिंग लगायत विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार रंगपो परिसर में एक माध्यमिक स्कूल और एक उच्चतर माध्यमिक स्कूल है। स्कूल बिल्डिंग, लैब और पुस्तकालय की कमी के कारण विद्याíथयों को पढ़ने में समस्याएं हो रही हैं। जानकारी देते हैं कि राज्य के शहरी क्षेत्रों में फिलहाल नगर निकाय चुनाव होने के कारण चुनावी आचार संहिता लागू है। निकाय चुनाव में निर्दलीय चुनाव होने के चलते मुख्यमंत्री का यह दौरा गैर राजनीतिक था।

यहा से प्रस्थान होने के बाद मुख्यमंत्री ने माझिटार में पश्चिम पाडम विधानसभा समष्टि के लिए समष्टि स्तरीय पार्टी कार्यालय का उद्घाटन किया। शनिवार को मुख्यमंत्री ने स्थानीय जनता से मिलकर देर रात तक उनकी समस्याएं गंभीरता से सुनीं।