गंगटोक। भाजपा के सिक्किम किसान मोर्चा के अध्यक्ष और पूर्व विधायक मोहन गुरुंग (Mohan Gurung) ने मंगलवार को कहा कि सत्तारूढ़ सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (SKM) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच गठबंधन अच्छी तरह से काम नहीं कर रहा है और यह एक विकल्प के बजाय एक आवश्यकता बन गया है। उन्होंने ये बातें एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही।

एक प्रश्न के उत्तर में गुरुंग ने कहा, 'गठबंधन केवल एसकेएम के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने के उद्देश्य से है, क्योंकि सिक्किम एक छोटा और शांतिपूर्ण राज्य है, इसलिए केंद्र ने उसी कारण से अपना समर्थन दिया। कोई स्पष्ट कट समझौते बिंदु नहीं हैं, और पारस्परिकता की भी कमी है। गठबंधनों को कैसे सहयोग करना चाहिए, इसके लिए सिस्टम हैं, लेकिन हमारे पास ऐसा नहीं है।'

बता दें कि इससे पहले मोहन गुरुंग ने न केवल एसकेएम सरकार की बल्कि पिछली सभी सरकारों में सिक्किम की कृषि नीति की कड़ी आलोचना की थी, इस तथ्य का हवाला देते हुए कि सिक्किम में अभी भी सब्जियों और अनाज के लिए कोल्ड स्टोरेज की कमी है, जो योजना की कमी का संकेत देता है। इसके साथ ही उन्होंने सरकार द्वारा कृषि के लिए समर्थन की कमी को लेकर आलोचना की।

उन्होंने सरकार से एक निर्वाचन क्षेत्र, एक फसल मॉडल' अपनाने का भी आग्रह किया, लेकिन अधिकारी इस मुद्दे पर अडिग रहे। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को गायों का आयात नहीं करना चाहिए और इसके बजाय हमें अपनी स्थानीय गायों को बढ़ावा देना चाहिए।